Facebook और Twitter ठीक ठंग से अपना काम नहीं कर पा रहे हैं, इस बात को साबित करने के लिए विकीपीडिया के सह-संस्थापक जिमी वेल्स ने ‘डब्ल्यूटी : सोशल’ नाम से एक सोशल-मीडिया वेबसाइट शुरू की है, जो दोनों सोशल मीडिया के तालमेल के साथ प्रतिस्पर्धा करेगी। एड-फंड मॉडल से इतर वेल्स का लक्ष्य इसे विकिपीडिया की तरह ही डोनेशन के माध्यम से चलाना है। इन्हीं प्लेटफॉर्म्स की तरह डब्ल्यूटी : सोशल भी यूजर्स को आर्टिकल शेयर करने देगा, लेकिन यह विज्ञापन के माध्यम से न चलकर दान के माध्यम से कार्य करेगा।
एंडगैजेट ने वेल्स के हवाले से कहा, “सोशल मीडिया प्लेटफॉर्म्स का बिजनेस मॉडल पूरी तरह से विज्ञापन से चलता है, जो परेशानी का कारण है। पता चला है कि बड़ा विजेता का कंटेंट उतना अच्छा नहीं है, जितना होना चाहिए।”

यह एक साइट विकिट्रब्यून के माध्यम से शुरू हुआ है, जो कम्युनिटी फैक्ट चेकिंग के माध्यम और अर्टिकल्स को संपादित कर वास्तविक मूल समाचार प्रदान करती है।डब्ल्यूटी : सोशल को मुफ्त में ज्वाइन किया जा सकता है, लेकिन इसके लिए आपको या तो डोनेट करना होगा या अपने किसी मित्र को आमंत्रण भेजना होगा। एंडगैजेट के अनुसार, एक महीने में इसके अभी तक 50 हजार यूजर्स हो चुके हैं।

आपको बता दें कि facebook और Twitter भारत समेत दुनियाभर में काफी लोकप्रिय है। हालांकि facebook को पिछले कुछ समय से यूजर्स के डाटा को बेचने को लेकर कड़ी आलोचनाओं का सामना करना पड़ा है। ऐसे में फेसबुक जैसा एक दूसरा प्लेटफॉर्म शुरू होने से यकीनन कंपनी का मार्केट में कड़ा कॉम्पटीशन देखने को मिल सकता है।

INPUT: IANS