Wistron Corporation iPhones looted: कर्नाटक के कोलार जिला स्थित iPhone बनाने वाली फैक्ट्री (Wistron Corporation) में शनिवार को कर्मचारियों ने सैलरी की मांग को लेकर जमकर हंगामा और तोडफोड़ किया था. अब कंपनी ने कहा है कि इसकी वजह से उसे 440 करोड़ रुपये का नुकसान हुआ है, क्योंकि हंगामे के दौरान हजारों आईफोन लूटे गए हैं (Wistron Corporation violence). विस्ट्रॉन कॉर्पोरेशन ने पुलिस और लेबर डिपार्टमेंट में दी अपनी शिकायत में यह बात कही है.Also Read - ओमीक्रॉन को लेकर कर्नाटक के मुख्यमंत्री की हाई लेवल मीटिंग, इस शर्त पर खुलेंगे स्कूल; यहां देखें नई गाइडलाइन

कर्नाटक में कोलार जिले के नरसापुरा औद्योगिक क्षेत्र में आईफोन बनाने की फैक्ट्री है. इसमें काम करने वाले कर्मचारियों ने वेतन की मांग को लेकर शनिवार सुबह फैक्ट्री में भारी हंगामा और पथराव किया. पुलिस ने बताया कि हंगामा कर रहे कर्मचारियों ने पथराव कर खिड़कियों के शीशे तोड़ दिए. साथ ही गाड़ियों, फर्नीचर, कंप्यूटर और लैपटॉप को भी नुकसान पहुंचाया. Also Read - Omicron Variant News: कर्नाटक से लापता हो गए 10 दक्षिण अफ्रीकी नागरिक, हाई अलर्ट पर राज्य सरकार

घटना की सूचना पाकर मौके पर पहुंची पुलिस ने हालात काबू करने के लिए लाठीचार्ज किया. मामले में करीब 100 लोगों को हिरासत में लिया गया. कंपनी के सूत्रों के अनुसार करीब दो हजार कर्मचारी वेतन संबंधी मुद्दे को लेकर उग्र हो गए और तोड़-फोड़ करने लगे थे. Also Read - Omicron India: भारत में किस तरह से मिले 2 ओमिक्रॉन से संक्रमित मरीज, क्या हैं इसके लक्षण?

चार महीने से वेतन न मिलने का आरोप
सूत्रों के अनुसार, कम्पनी में 8 हजार से ज्यादा कर्मचारी हैं, जिनमें से 90 पर्सेंट से ज्यादा कर्मचारी अनुबंध पर हैं. वहीं, कर्मचारियों का आरोप है कि उन्हें पिछले चार महीने से वेतन नहीं दिया गया है. कर्मचारियों का दावा है कि उनमें से अधिकतर से 12 से भी ज्यादा घंटे काम कराया जाता है, लेकिन 7-8 घंटे के हिसाब से सिर्फ 200 से 300 रुपये तक दिए जाते हैं.

ताइवान में हेडक्वॉर्टर
विस्ट्रॉन कॉर्पोरेशन का हेडक्वॉर्टर ताइवान में है. इस फैक्ट्री में एपल आईफोन के अलावा लेनोवो, माइक्रोसॉफ्ट समेत अन्य ब्रैंड्स के लिए आईटी प्रॉडक्ट बनाए जाते हैं.