World Consumer Rights Day: दुनिया का बड़ी तेजी से डिजिटाइजेशन किया जा रहा है. ऐसे में ऑनलाइन फ्रॉड के मामले में भी तेजी देखने को मिल रहा है. ऐसे में कई बार ऑनलाइन शॉपिंग के दौरान ग्राहकों द्वारा जो सामान मंगवाया जाता है उसके स्थान पर कुछ और डिलीवरी हो जाता है, या फिर कई बार डिफेक्टेड प्रोडक्ट्स को सप्लाई कर दिया जाता है. लेकिन कई बार शिकायत करने पर कंपनी द्वारा ग्राहकों की सुनवाई नहीं की जाती है. ऐसे में कई बार तमाम तरह के इलेक्ट्रॉनिक, फैशन, कपड़े, बुक्स इत्यादि लेकर लोग फंस जाते हैं.Also Read - लड़की ढूंढ़ रही थी Online Job, हैकर्स ने एकाउंट से उड़ा लिए 4 लाख रुपये

हालांकि कई बार कंपनी द्वारा इस तरह के मामलों को निपटा दिया जाता है, लेकिन कई बार मामले कोर्ट तक पहुंचते हैं और कई बार फर्जी कंपनी के माध्यम से ग्राहक के साथ धोखाधड़ी को अंजाम दिया जाता है, जिसका रिफंड पा पाना मुश्किल होता है. ऐसे में भारत सरकार द्वारा साल 2019 में उपभोक्ता संरक्षण अधिनियम -2019 लाया जाता है. इसके आने से ग्राहकों को बड़ा लाभ हुआ. यानी ग्राहक अब अपनी शिकायतों को आसानी से दर्ज करा सकते हैं. ऑनलाइन फ्रॉड, धोखाधड़ी, गलत सामानों की डिलीपरी, पेमेंट के तरीके संबंधित सभी प्रकार की शिकायतों को दर्ज करा सकता है. Also Read - ऑनलाइन बैंकिंग फ्रॉड से बचना है तो ये 9 टिप्स आपके बेहद काम आएंगे

इस नियम के आने के बाद ऑनलाइन मार्केटप्लेस के लिए एक कस्टमर केयर नंबर जरूरी है. साथ ही दिशानिर्देश के मुताबिक 48 घंटे के भीतर शिकायतों पर संज्ञान लेना होता है तथा उनका निवारण भी करना होता है. ऐसे में इन फ्रॉड्स की अगर आप शिकायत करना चाहते हैं तो आखिर कहां पर इसकी शिकायत दर्ज की जा सकती है. अगर आप अपने मामले की शिकायत कंज्यूमर फोरम में दर्ज कराना चाहते हैं तो आपको नीचे दी गई स्टेप्स को फॉलो करना होगा. Also Read - गोवा : CM के दोस्त को साइबर ठगों ने लगाया 35 लाख का चूना, प्रमोद सावंत ने बताई पूरी कहानी

कहां करें शिकायत

1- ग्राहक भारत सरकार Intergrated Grievance Redressal Mechanism Portal (INGRAM) पर शिकायत दर्ज करा सकते हैं.
2- ग्राहक उपभोक्ता मंत्रालय की वेबसाइट consumerhelpline.gov.in पर भी शिकायत दर्ज करा सकते हैं.
3- ग्राहक नेशनल कंज्यूमर हेल्पलाइन नंबर 1800-11-4000 या 14404 पर कॉल करके आप शिकायत कर सकते हैं. अगर आपके साथ लेन देन में फ्रॉड हुआ है तो पहले पुलिस या साइबर सेल में मामला दर्ज कराए अगर कंपनी ट्रेस नहीं हो पा रही है तो.
4- कंज्यूमर प्रोटेक्शन एक्ट के तहत ग्राहक कंज्यूमर फोरम जा सकते है. यह प्रक्रिया सबसे तेज और कारगर होती है. यहां किसी तरह की फीस नहीं लगती है और खुद हाजिर भी नहीं होना पड़ता है.
5- नेशनल कंज्यूमर डिस्प्यूट्स रीड्रेसल कमीशन की वेबसाइट http://ncdrc.nic.in/ivrs.html पर जाकर भी शिकायत कर सकते हैं.