चाइनीज हैंडसेट कंपनी शाओमी ने 30वॉट वायरलैस चार्जिंग टेक्नोलॉजी को पेश कर दिया है। कंपनी ने इसे मी चार्ज टर्बो का नाम दिया है, जो 4,000 एमएएच बैटरी को केवल 25 मिनटों में 0 से 50 फीसदी चार्ज कर देता है। इस टेक्नोलॉजी को सबसे पहले Xiaomi Mi 9 Pro 5G स्मार्टफोन में दिया जा सकता है। GSM Arena की रिपोर्ट में कहा गया है कि उसी आकार की बैटरी को फुल चार्ज करने में यह चार्जर 69 मिनट लगाता है, जबकि शाओमी का पिछला चार्जर – मी9 जो 20 वॉट का था, वह 3,300 एमएएच की बैटरी को 0 से 50 फीसदी 30 मिनट में चार्ज करता था।

आगामी मी9 प्रो 5जी फ्लैगशिप स्मार्टफोन पहला फोन होगा, जो 30वॉट मी चार्जर टर्बो टेक्नॉलजी से लैस होगा। स्मार्टफोन कंपनी ने कथित रूप से इसकी पुष्टि की है। कंपनी ने हालांकि यह नहीं बताया कि इस तेज चार्जर को फोन के साथ ही दिया जाएगा या ग्राहकों को अलग से खरीदना होगा। रिपोर्ट में कहा गया कि शाओमी ने इससे पहले 100वॉट वायर्ड चार्जर की झलक दिखलाई थी, लेकिन अभी तक इससे परदा नहीं हटाया गया है।

वहीं इससे पहले रिपोर्ट में कहा गया था कि शाओमी का 100W सुपर चार्ज टर्बो फास्ट चार्जिंग 4,000 mAh बैटरी वाले फोन को सिर्फ 17 मिनट में चार्ज कर देगी। शाओमी के चेयरमैन लिन बिन ने Weibo पर एक वीडियो को भी शेयर किया था जिसमें दिखाया गया था कि शाओमी की 100W वाली सुपर चार्ज टर्बो फास्ट चार्जिंग टेक्नॉलजी से 4,000 mAh की बैटरी सिर्फ 7 मिनट में 0-50 फीसदी चार्ज हो जाती है। वहीं, 50-100 फीसदी चार्ज होने में इस फोन को 17 मिनट लगते हैं।