नई दिल्ली: वेब पर अगर इंस्टैंट मैसेंजर के रूप में याहू की तरफ से जो सबसे पहला प्रोडक्ट था वो याहू मैसेंजर था. लेकिन अब ये मैसेंजर पूरी तरह से खत्म होने वाला है. दूरसंचार दिग्गज वेरीजोन की सहायक कंपनी ओथ ने 17 जुलाई से याहू मैसेंजर की सेवाओं को बंद करने की घोषणा की है. ओथ याहू का संचालन करती है. याहू मैसेंजर वेब मैसेजिंग ऐप के मामले में सबसे पुराना ऐप है.

याहू ने शुक्रवार को एक बयान में कहा, याहू मैसेंजर को 17 जुलाई, 2018 से बंद कर दिया जाएगा. तब तक आप सेवा का प्रयोग सामान्य तौर पर कर सकते हैं. 17 जुलाई के बाद आप इस पर चैट करने में सक्षम नहीं होंगे और यह कार्य करना बंद कर देगी. उन्होंने कहा, वर्तमान में याहू मैसेंजर के विकल्प के लिए कोई और उत्पाद उपलब्ध नहीं है.

कंपनी ने कहा, वह लगातार नई सेवाओं और ऐप्स के साथ प्रयोग कर रहे हैं, जिसमें से एक ‘याहू स्कवीरल ‘ नाम का ऐप भी है, फिलहाल यह बीटा फॉर्म में है. ‘स्क्वीरल’ एक समूह मैसेंजिंग ऐप है, जिसका याहू ने पिछले साल परीक्षण किया था. याहू ने कहा कि अगले छह महीनों तक उपयोगकर्ता अपने निजी कंप्यूटर या उपकरण में अपना चैट इतिहास डाउनलोड करने में सक्षम होंगे.

इसके सभी यूजर्स को नए मैसेजिंग स्क्विरल  पर शिफ्ट किया जाएगा. बता दें कि गूगल प्ले स्टोर पर याहू मैसेंजर के डाउनलोड की संख्या 50,000,00 से भी ज्यादा है. कंपनी की तरफ से कहा गया है कि याहू मैसेंजर वेब मैसेंजिग ऐप के मामले में सबसे पुराना ऐप है. हमारे पास विश्वसनीय यूजर्स हैं. जो याहू मैसेंजर को शुरूआत से ही इस्तेमाल करते आ रहे हैं.  कंपनी ने दावा किया है कि कुछ नए बदलाव के साथ यूजर्स याहू मैसेंजर के स्थान पर नए ऐप स्क्विरल को काफी पसंद करेंगे.