Greater Hyderabad Municipal Corporation Election 2020: ग्रेटर हैदराबाद नगर निगम (GHMC polls 2020) के चुनाव में मंगलवार को केवल 42 प्रतिशत ही मतदान हुआ. यह जानकारी चुनाव अधिकारियों ने दी. राज्य निर्वाचन आयोग (एसईसी) के अनुसार, मतदान खत्म होने से दो घंटे पहले तक केवल 29.76 प्रतिशत मतदान दर्ज किया गया था. जिसके बाद मतदान का समय खत्म होते होते ये आंकड़ा 42 प्रतिशत तक पहुंच गया. Also Read - GHMC Poll Latest News: केंद्रीय गृह मंत्री रेड्डी, असदुद्दीन ओवैसी समेत इन दिग्‍गजों ने की वोटिंग

तेलंगाना राज्य निर्वाचन आयोग के अधिकारियों के अस्थायी अनुमान के अनुसार, शाम 6 बजे मतदान के करीब 74.67 लाख मतदाताओं में से केवल 42% ने अपने मताधिकार का प्रयोग किया. Also Read - GHMC Polls: बृहद हैदराबाद नगर निगम के 150 वार्डों के लिए चुनाव आज, सुबह 7 बजे से वोटिंग शुरू

जीएचएमसी के एक अधिकारी ने कहा, “शाम 5 बजे तक, दर्ज मतदान प्रतिशत करीब 36.73 था और अगले एक घंटे में यह 5-6 प्रतिशत बढ़ गया. हम डिवीजनों से अंतिम आंकड़ों का इंतजार कर रहे हैं, क्योंकि मतदान के निर्धारित समय के बाद भी कुछ डिवीजनों में कतार में कुछ मतदाता थे.”

सभी 150 डिवीजनों के 9,101 मतदान केंद्रों पर सुबह 7 बजे से मतदान शुरू हुआ जो शाम 6 बजे तक जारी रहा. इससे पहले सर्द मौसम के कारण शुरुआती घंटों में तो कई डिवीजन में ना के बराबर मतदाता थे. बता दें कि चुनावों में कुल 74,67,256 लोग वोट डालने के पात्र हैं. इनमें 38,89,637 पुरुष, 35,76,941 महिलाएं और 678 अन्य शामिल हैं.

मतदान प्रतिशत में सुधार के लिए मतदान अधिकारियों, सभी राजनीतिक दलों, गैर सरकारी संगठनों और मशहूर हस्तियों द्वारा अपील करने के बावजूद कुछ ही मतदाता मतदान करने के लिए बाहर निकले और मतदान सुस्त रहा.

साल 2016 के जीएचएमसी चुनावों में 45.27 फीसदी मतदाताओं ने वोट डाले थे. हालांकि राजनीतिक दलों को उम्मीद थी कि इस बार प्रतिशत में सुधार होगा, लेकिन शहरी मतदाताओं की प्रतिक्रिया ठंडी रही. मतदान में कमी के पीछे कोविड-19 को जिम्मेदार ठहराया जा रहा है, जबकि अधिकारियों ने आश्वासन दिया था कि उन्होंने कोविड प्रोटोकॉल का पालन करते हुए सभी सावधानियां बरती हैं.

चुनाव अधिकारियों ने इलेक्ट्रॉनिक वोटिंग मशीन (ईवीएम) के बजाय पेपर बैलेट के माध्यम से चुनाव कराए.

इन चुनावों में कुल 1,122 उम्मीदवार अपनी राजनीतिक किस्मत आजमा रहे हैं. सत्तारूढ़ तेलंगाना राष्ट्र समिति (टीआरएस) सत्ता बरकरार रखने के लिए आश्वस्त है, जबकि भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) नगर निकाय चुनावों में जीत के लिए पूरी ताकत लगा रही है. वहीं 55 सीटों पर चुनाव लड़ रही मजलिस-ए-इत्तेहादुल मुस्लिमीन (एमआईएम) को 44 सीटें बरकरार रखने का भरोसा है.