हैदराबाद: तेलंगाना विधानसभा चुनाव में तेलंगाना राष्ट्र समिति (टीआरएस) की भारी जीत पर पार्टी अध्यक्ष के.चंद्रशेखर राव ने मंगलवार को यहां कहा कि वह राष्ट्रीय राजनीति में महत्वपूर्ण भूमिका निभाएंगे. राव ने संवाददाताओं से कहा कि वह एक नए आर्थिक मॉडल के साथ भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) व कांग्रेस का विकल्प बनने के लिए कार्य करेंगे. Also Read - यूपी के मंत्री ने कहा- कांग्रेस ने भ्रम फैलाकर पाया वोट, पछता रहे हैं मध्यप्रदेश के लोग

Also Read - एमएनएफ के प्रमुख जोरमथंगा ने ली मिजोरम के मुख्यमंत्री के रूप में शपथ

लोगों के बीच केसीआर के नाम से लोकप्रिय राव ने कहा कि उन्हें भरोसा है कि वह भारतीय राजनीति में गुणात्मक बदलाव लाएंगे. उन्होंने कहा, “आप जल्द ही इसकी शुरुआत देखेंगे.” Also Read - सवाल- केंद्र की राजनीति में जाने वाले हैं? 15 साल मुख्यमंत्री रहे रमन सिंह का जवाब- 'यहीं हूं मैं'

कांग्रेस की छत्तीसगढ़, मध्य प्रदेश व राजस्थान में जीत पर प्रतिक्रिया देते हुए केसीआर ने कहा कि ऐसा इसलिए हुआ है, क्योंकि वहां भाजपा के अलावा कोई अन्य विकल्प नहीं है. उन्होंने कहा, “देश को इस बंधे-बंधाए दस्तूर से बाहर आने की जरूरत है.”

उन्हें भरोसा है कि तेलंगाना पूरे देश को रास्ता दिखाएगा. उन्होंने कहा कि वह जल्द ही नई दिल्ली जाएंगे. केसीआर ने दोहराया कि उनका प्रस्तावित मोर्चा राजनीतिक दलों का संगठन नहीं होगा. उन्होंने कहा, “हम भारत के लोगों व राजनीति को एकजुट करने जा रहे हैं.” गैर भाजपा दलों को एक साथ लाने के प्रयास के प्रत्यक्ष संदर्भ में उन्होंने कहा, “कुछ ऐसी ताकतें हैं, जो गंदी राजनीति कर रही हैं. चार पार्टियां साथ आ रही हैं और ड्रामा कर रही हैं.”

Mizoram Election Result: जितनी सीटों पर जीते निर्दलीय, उससे भी कम पर आई कांग्रेस, पूर्वोत्तर का आखिरी किला ध्वस्त

इससे पहले उन्होंने मीडिया से कहा कि विधानसभा चुनाव में टीआरएस की जीत लोगों की जीत है. सभी वर्गों के लोगों ने जाति, पंथ व धर्म से निरपेक्ष होकर टीआरएस को वोट दिया है. इसमें किसान, महिलाएं व युवा भी शामिल हैं.

Assembly Elections Results 2018: इन छह प्वॉइंट्स से समझिए इन नतीजों को

केसीआर ने टीआरएस में निष्ठा जताने के लिए लोगों का आभार जताया और तेलंगाना को विकास व समृद्धि के मार्ग पर ले जाने के प्रयासों को जारी रखने का संकल्प लिया. टीआरएस प्रमुख ने पार्टी कार्यकर्ताओं को अहंकार से दूर रहने की सलाह दी. उन्होंने कहा कि इस बड़ी जीत ने उनके लोगों से किए गए वादों को पूरा करने की जिम्मेदारी बढ़ा दी है.