नोएडा: परीक्षा में फेल होने का भय कुछ छात्र- छात्राओं में इतना बढ़ा है कि रिजल्‍ट से पहले ही अपनी जान दे रहे हैं. तनाव और फेल हो जाने के डर से दो दिन पहले फांसी लगा चुकी 10वीं कक्षा की एक छात्रा को परीक्षा में 70 फीसदी अंक मिले हैं. अंग्रेजी में उसने 82 फीसदी अंक हासिल किए हैं, जबकि उसे इस विषय में अनुत्तीर्ण होने की आशंका थी. छात्रा में इतनी प्रतिभावान थी कि उसने कई अवॉर्ड भी जीते थे.

छात्रा के पिता ने बताया कि उनकी बेटी पढ़ाई में बहुत अच्छी थी और घर की ओर से उस पर कोई दबाव नहीं था. उन्होंने बताया कि अंग्रेजी का पेपर दे कर आने के बाद से ही वह परेशान थी और लंबे उत्तर की वजह से कुछ प्रश्न छूट जाने के कारण उसे फेल हो जाने की आशंका थी. शर्मिष्ठा राउत नामक यह छात्रा पेंटिंग बनाती थी और उसने कई अवार्ड भी जीते थे.

थाना सेक्टर 24 के प्रभारी निरीक्षक प्रदीप कुमार त्रिपाठी ने बताया कि मोरना गांव में रहने वाली, 10 वीं कक्षा की छात्रा शर्मिष्ठा राऊत ने 3 दिन पूर्व परीक्षा में कम नंबर आने के भय से, घर पर पंखे से फंदा लगाकर आत्महत्या कर ली थी.