कानपुर: कानपुर में एक विकलांग स्कूल में मानसिक रूप से विकलांग बच्ची (स्पेशल चाइल्ड) के साथ हैवानियत का आरोप लगाया गया है. बताया जा रहा है कि इंजेक्शन देकर बच्ची का यौन शोषण किया जा रहा था, हालांकि इंजेक्शन लगाकर रेप की आधिकारिक पुष्टि अभी नहीं हुई है. बच्ची के अनुसार उसके साथ स्कूल वैन में भी छेड़छाड़ की गई. आरोप है कि पुलिस ने शिकायत के बाद भी मामला दर्ज करने में हीलाहवाली की. इसे लेकर बच्ची की मां ने जमकर हंगामा मचाया, इसके बाद पुलिस ने कार्रवाई करना शुरू की. बच्ची का मेडिकल चेकअप कराया जा रहा है.

‘लड़कियों को सजा-धजाकर कार से गोरखपुर ले जाते थे, होटल में गलत काम के बाद 500-1000 रुपए देते थे’

कानपुर के शांति नगर में कैंट बोर्ड द्वारा प्रेरणा पब्लिक स्कूल संचालित किया जाता है. यह स्कूल मानसिक रूप से कमजोर विशेष बच्चों के लिए प्रेरित किया जाता है. बताया जा रहा है कि यहां पढ़ने वाली 12 साल की बच्ची के साथ कुछ समय से रेप किया जा रहा था. इंजेक्शन देकर बच्ची के साथ रेप किया जाता था. बच्ची के साथ स्कूल वैन में भी बदसुलूकी की जाती थी.

यूपी में मुजफ्फरपुर जैसा कांड: मायावती बोलीं- ‘BJP शासन में महिलाओं की दुर्दशा, मेरी सरकार याद करो’

बच्ची की मां गोरखपुर इलाके की रहने वाली है और कानपुर में रहती है. बच्ची ने अपनी मां को घटनाओं के बारे में बताया. मां के अनुसार, बेटी ने किसी तरह इशारों में बताया कि उसके साथ स्कूल में गलत चीजें होती हैं. वह जब शिकायत करने थाने पहुंची तो पुलिस ने गंभीरता से नहीं लिया और स्कूल प्रबंधन को बुलाया. और बातचीत के लिए बच्ची को कमरे में उसके साथ ही बंद कर दिया. बच्ची की मां का आरोप है कि बच्ची पर इस तरह से दबाव बनाने की कोशिश की गई. वह जब चिल्लाई तब पुलिस हरकत में आई. पुलिस ने कार्रवाई करते हुए बच्ची को मेडिकल के लिए भेजा है.