बांदा: उत्‍तर प्रदेश पुलिस ने रेत माफिया पर गोपनीय तरीके से करते हुए बालू से भरे 125 ट्रक जब्‍त किए हैं. दरअसल, यह बड़ी कार्रवाई यूपी के नए डीजीपी के सख्‍त रवैये के चलते हो सकी है. पुलिस की कार्रवाई की भनक रेत माफिया को लग चुकी थी, वर्ना कई ट्रक और जब्‍त हो सकते थे. अपर पुलिस अधीक्षक भरत कुमार पाल ने बताया कि पुलिस महानिदेशक के निर्देश पर गुरुवार रात को यह कार्रवाई की गई. इस दौरान 125 ट्रक जब्‍त किए गए है. Also Read - बीजेपी से पहले से ही सांठगांठ, मायावती ने खुद ही खोली अपनी पोल: समाजवादी पार्टी

बांदा जिले की केन नदी में बड़े स्‍तर पर अवैध रेत खनन चल रहा है. इसे रोकने के लिए राज्‍य के डीजीपी का पद संभालते ही ओम प्रकाश सिंह ने गिरवां क्षेत्र में दो सीनियर आईपीएस अफसरों को भेजा था. इन सीनियर अफसरों और पुलिसकर्मियों ने जब अवैध रेत खनन को रोकने की कोशिश की तो बालू माफिया ने उन पर हमला कर दिया. इस घटना के बाद नाराज डीजीपी ने रेत माफिया पर इस बड़ी कार्रवाई को अंजाम तक पहुंचाने का मन बना लिया था. बता दें कि केन नदी से बड़े स्‍तर पर कई सालों से अवैध रेत उत्‍खनन चल रहा था. योगी सरकार के पहले से ही बांदा जिले में रेत खनन का बड़ा इश्‍यू रहा है. Also Read - यूपी का बिकरू हत्याकांड: जब्‍त हथियारों में कई लोगों के फिंगरप्रिंट्स मिले, क्‍या सजा दिलाने में होगी मुश्‍किल?

Also Read - BSP सुप्रीमो मायावती ने 7 बागी विधायकों को किया सस्‍पेंड, कहा- सपा को हराने बीजेपी का भी समर्थन करेंगे