लखनऊ: सीएम योगी आदित्यनाथ ने 147 महिलाओं को रानी लक्ष्मीबाई वीरता पुरस्कार से सम्मानित किया है. दो पुरुषों को भी बेगम अख्तर पुरस्कार से सम्मानित किया गया. उन्होंने बनारस की तान्या दत्ता को सम्मानित लक्ष्मी वीरता पुरस्कार से सम्मानित किया. तान्या ने मिर्ज़ापुर में भारत घूमने आई फ्रांसीसी युवतियों से छेड़छाड़ कर रहे शोहदों को सबक सिखाया था. उन्होंने 10 दिसंबर 2017 को शोहदों से भिड़ फ्रांसीसी युवतियों को बचाया था. मामले के आठ आरोपियों को जेल भेजा गया था. तान्या को इससे पहले भी इसे लेकर कई जगहों पर सम्मानित किया जा चुका है. Also Read - भाजपा सरकार की न तो नीतियां सही हैं, नीयत, योगी राज में विकास का पहिया थम गया है : अखिलेश

Also Read - बिहार: CM योगी बोले- PM मोदी ने राम मंदिर की नींव रखी, राहुल गांधी पाकिस्तान की तारीफ़ करते हैं

लखनऊ के लोकभावन में हुए कार्यक्रम में सीएम योगी ने कहा कि माध्यमिक शिक्षा परिणाम जब सामने आए थे, तो मैंने कहा था जो टॉप टेन छात्र है उन्हें सम्मानित किया जाना चाहिए. सीएम योगी ने कहा कि हाई स्कूल और इंटरमीडिएट में पूरे प्रदेश में मेरिट में जगह बनाने वाले छात्रों में 147 में से 99 छात्राएं थी. पीएम मोदी ने बेटी बचाओ-बेटी पढ़ाओ अभियान चलाया. उन्होंने कहा कि सम्मानित होने वाली इन बहनों ने समाज को नई प्रेरणा दी है. सरकार ऐसी महिलाओं को सम्मानित करके खुद को सम्मानित कर रही है. Also Read - महिला सुरक्षा के मुद्दे पर प्रियंका गांधी ने योगी सरकार से किया सवाल, पूछा- मिशन बेटी बचाओ है या फिर...

ये भी पढ़ें: बहादुर नाजिया को बनाया गया स्पेशल पुलिस ऑफिसर, पीएम मोदी ने प्यार से कहा था ‘लड़ाकू’

शोषण के खिलाफ आगे आएं महिलाएं

सीएम योगी ने कहा कि अभी प्रदेश में कुछ जिले ऐसे है जहाँ लिंग भेद की शिकायतें आती है. ऐसे जिलों में ज्यादा काम करने की आवश्यकता है. इसके लिए महिलाओं को खुद आगे आना होगा. उन्होंने कहा कि महिलाओं के कल्याण के लिए 1090 और 181 हेल्प लाइन है. हमें शोषण और अन्याय के ख़िलाफ़ आवाज़ उठाना चाहिए. सीएम योगी ने कहा कि इस समय गाँव में विकास के लिए धनराशि उपलब्ध कराई जा रही है. पीएम का सपना है कि गाँधी जी के ग्राम स्वराज के सपने को पूरा किया जा सके.

बनारस की तान्या को मिला पुरस्कार

मिर्जापुर में फ्रांसीसी युवतियों को शोहदों से बचाने वाली बनारस की तान्या दत्ता को रानी लक्ष्मीबाई वीरता पुरस्कार दिया गया. वह घूमने आईं फ्रांसीसी युवतियों को बचाने के लिए शोहदों से भिड़ गईं थी. जलालपुर पंचायत में प्रधान कविता देवी और जिकरपुर पंचायत में प्रधान सुनीता देवी को गांव में विकास कार्यों के लिए सम्मानित किया गया. लखनऊ से सटे बइराइच की चार महिलाओं को रानी लक्ष्मीबाई सम्मान से सम्मानित किया गया है. इनके साथ ही यूपी भर के कुल 147 लोगों को सम्मानित किया गया है.

इन क्षेत्रों में दिया गया सम्मान

महिला कल्याण विभाग द्वारा आयोजित कार्यक्रम में सीएम योगी ने चिकित्सा, शिक्षा, खेल, व्यापार, वीरता तथा सरकारी और गैर सरकारी क्षेत्रों में योगदान देने वाली महिलाओं, बालिकाओं और बालकों को रानी लक्ष्मीबाई वीरता पुरस्कार प्रदान किया.