लखनऊ: उत्तर प्रदेश के उन्नाव जिले में गुरुवार रात कुछ दरिंदों ने एक दलित लड़की को जिंदा जला दिया. मोनी (18) गुरुवार को साइकिल से सब्जी बाजार जा रही थी, तभी कुछ अज्ञात लोगों ने उसे रोक लिया और उसे घेरकर उस पर पेट्रोल उड़ेल दिया, इससे पहले कि वह कुछ समझ पाती, उसे आग के हवाले कर दिया गया.

आग की लिपटों में घिरी लड़की जान बचाने के लिए लगभग 100 मीटर दौड़ी, लेकिन आखिरकार वह गिर गई और उसने दम तोड़ दिया. आईजी (जोन) सुजीत कुमार पांडे सहित वरिष्ठ पुलिस अधिकारी आधीरात को ही घटनास्थल पहुंचे और उन्होंने पीड़िता के परिजनों से बातचीत की.

पुलिस यह पता लगाने की कोशिश कर रही है कि यह मामला लड़की का पीछा करने का है या पारिवारिक दुश्मनी का है. पीड़िता के परिवार ने किसी से दुश्मनी होने की बात से इनकार किया है. अधिकारियों ने बताया कि पुलिस ने टेढ़ा बाजार में जहां अपराध हुआ, वहां से एक खाली पेट्रोल कैन, एक माचिस की डिब्बी बरामद की है.

घटनास्थल पर चारपहिया वाहन के टायर के निशान दिखे हैं. पुलिस अधीक्षक (एसपी) पुष्पांजली ने एसएचओ उत्तम सिंह राठौड़ के साथ अपराध के संबंध में कई लोगों से पूछताछ की है. इस संदर्भ में अज्ञात लोगों के खिलाफ मामला दर्ज कर लिया है.