लखनऊ : उत्तर प्रदेश में पूर्व मुख्यमंत्रियों के बंगले खाली कराने के सुप्रीम कोर्ट के आदेश के बाद यूपी सरकार ने 6 पूर्व मुख्यमंत्रियों को 15 दिन के अंदर सरकारी बंगले खाली करने का नोटिस जारी कर दिया है. इसी बीच मुख्यमंत्री योगी के निजी सचिव पीताम्बरा यादव और प्रमुख सचिव के व्यक्तिगत सहायक शिशुपाल को निलंबित कर दिया गया. सूत्रों के मुताबिक समाजवादी पार्टी के संरक्षक और प्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री मुलायम सिंह यादव का अपने और सपा अध्यक्ष अखिलेश का बंगला बचाने वाला गोपनीय पत्र लीक होने के चलते इन दोनो अफसरों पर कार्रवाई की गई है. आरोप है कि दोनों अफसरों के पास से ही मुलायम सिंह का मुख्यमंत्री योगी को बंगला बचाने वाला पत्र मिला था. Also Read - UP के पूर्व मुख्यमंत्री कल्याण सिंह भी हुए कोरोना पॉजिटिव, रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह ने जाना उनका हाल...

Also Read - Neet एग्ज़ाम से ठीक पहले छात्रा ने की सुसाइड, अखिलेश ने कहा- ये हत्या है, BJP बताए जिम्मेदार कौन

यूपी के छह पूर्व मुख्‍यमंत्रियों को नोटिस, 15 दिन में खाली करने होंगे सरकारी बंगले Also Read - यूपी: विधान परिषद सदस्‍य श्रीराम सिंह यादव का कोरोना वायरस संक्रमण से निधन

पत्र के माध्यम से मुलायम सिंह यादव ने सीएम योगी को दिया था सुझाव

गौरतलब है कि बुधवार (16 मई ) को सपा सांसद मुलायम सिंह यादव ने सीएम योगी से उनके आवास पर मुलाकात की थी और अपने और अखिलेश के बंगले को बचाने के लिए सीएम योगी से सिफारिश करते हुए उन्हें पत्र भी सौंपा था. मुलायम ने सीएम योगी से सिफारिश की थी कि उनका और सपा अध्यक्ष अखिलेश का आवास विधानसभा और विधानपरिषद में नेता प्रतिपक्ष के नाम कर दें. विधानसभा में नेता प्रतिपक्ष सपा के रामगोविंद चौधरी हैं वहीं विधान परिषद में नेता प्रतिपक्ष अहमद हसन भी सपा के वरिष्ठ नेता हैं. मुलायम के सुझाव के मुताबिक पूर्व मुख्यमंत्री एनडी तिवारी के अतिरिक्त अन्य सभी के सरकारी बंगले बच सकते हैं. चूंकि वर्तमान गृहमंत्री और प्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री राजनाथ सिंह के बेटे पंकज सिंह भी विधायक हैं तो उनका आवास पंकज सिंह को आवंटित किया जा सकता है. वहीं बसपा सुप्रीमो मायावती भी नेता प्रतिपक्ष लालजी वर्मा के नाम से बंगला आवंटित करवा कर उस पर काबिज रह सकती हैं. हालांकि बंगले खाली करने की नोटिस मिलने के बाद राजनाथ सिंह के आवास पर हो रही हलचल को देखते हुए ऐसी ख़बरें हैं कि राजनाथ सिंह अपना आवास खाली कर सकते हैं हालांकि सुप्रीम कोर्ट के आदेश के तहत आवास खाली तो सभी पूर्व मुख्मंत्रियों को करना ही पड़ेगा. लेकिन बंगलों का फिर से दूसरों के नाम आवंटन कराने की जुगत कितनी कामयाब होगी ये जल्दी ही तय हो जाएगा.

अपना और अखिलेश का बंगला बचाने की जुगत में सीएम योगी की शरण में पहुंचे मुलायम