गोरखपुर: गोरखपुर जेल में 23 कैदी HIV पॉजिटिव मिले हैं. जेल अधिकारियों ने इस बात की पुष्टि कर दी है. इस बात का पता तब चला है जब पिछले माह उन्नाव के तीन गांवों में 58 लोग HIV पॉजिटिव पाए गए थे. Also Read - Petrol Diesel Prices: बढ़े पेट्रोल-डीजल के दाम तो वकील ने जताई अनोखी इच्छा, प्रशासन हैरान

कैदियों में जो लोग एचआईवी पॉजिटिव मिले हैं, उनमें से अधिकतर अंडरट्रायल हैं. आपको जानकर हैरानी होगी कि अभी भी गोरखपुर जेल में बदर 400 कैदियों की जांच होनी बाकी है. Also Read - Tandav: Amazon को HC की फटकार- देवी-देवताओं का मजाक अभिव्यक्ति नहीं, जमानत याचिका खारिज

कैसे पता चला
गोरखपुर जेल सुप्रीटेंडेंट रामधानी मिश्रा के मुताबिक, ये केस तब सामने आए जब रेगुलर हेल्थ कैंप चलाए जा रहे थे. पिछले कई माह के दौरान जेल में कैदियों की मेडिकल जांच की गई. ये स्क्रीनिंग यूपी स्टेट एड्स कंट्रोल सोसायटी यानी UPSACS के अंतर्गत हुई है. Also Read - गुस्से में विपक्ष पर बरसे CM योगी आदित्यनाथ बोले-ज्यादा गर्मी न दिखाएं, सबका पेट दर्द दूर कर दूंगा,

मिश्रा ने कहा कि वो कैदियों के स्वास्थ्य को जानने के लिए समय-समय पर हेल्थ कैंप लगाते हैं. पिछले कुछ महीनों में 23 कैदी (जिनमें एक महिला भी शामिल है) HIV पॉजिटिव पाए गए हैं. इन सभी का BRD मेडिकल कॉलेज के ART सेंटर के तहत इलाज चल रहा है.

हालांकि अभी तक इस बात का पता नहीं चला है कि इन्हें ये इन्फेक्शन हुआ कैसे. मिश्रा ने कहा कि वे अभी केवल इतनी सूचना दे सकते हैं कि ये लोग रेगुलर चेकअप के दौरान संक्रमित पाए गए. आईजी (prisons) प्रमोद कुमार मिश्रा ने कहा कि इस तरह की जांच यूपी के जेलों में जारी है और इसकी रिपोर्ट राज्य सरकार के पास भेजी जाएगी.

बता दें कि पिछले महीने उन्नाव के तीन गावों के 58 लोग HIV पॉजिटिव पाए गए थे. ये भी आरोप लगे थे इन्फेक्टिड सिरींज का इस्तेमाल करने की वजह से एक साथ इतने लोग इन्फेक्शन का शिकार हो गए.