लखनऊ. उप्र एसटीएफ और उप्र पुलिस ने उप्र आरक्षी नागरिक पुलिस एवं आरक्षी पीएसी भर्ती परीक्षा-2018 के दूसरे दिन सॉल्वर (प्रश्न हल करने वाले) बैठाकर और नकल कराने के मामले में प्रदेश के अलग-अलग ज़िलों से 29 लोगों को गिरफ्तार किया है. इनमें से परीक्षा कराने वाले गिरोह के तीन सॉल्वर सदस्यों को मुजफ्फरनगर जिले से गिरफ्तार किया है. उप्र पुलिस के प्रवक्ता ने सोमवार रात को बताया कि पूरे प्रदेश में परीक्षा सफलतापूर्वक सम्पन्न हुई. सोमवार को दूसरे दिन एसटीएफ और पुलिस ने प्रदेश के अलग अलग जिलों से 29 लोगों को गिरफ्तार किया है और 21 मामले दर्ज किए गए हैं.

उन्होंने बताया कि सहारनपुर से तीन, मुजफ्फरनगर से चार, आगरा से चार, कानपुर से चार, वाराणसी से चार, बरेली से दो, बिजनौर से तीन, आज़मगढ़ से एक, मुरादाबाद से एक और फिरोज़ाबाद से तीन लोगों को गिरफ्तार किया गया है. इससे पहले एसटीएफ प्रवक्ता ने कहा कि उप्र आरक्षी नागरिक पुलिस एवं आरक्षी पीएसी भर्ती-2018 के अभ्यर्थियों से मोटी रकम लेकर अभ्यर्थियों के स्थान पर सॉल्वर बैठाकर परीक्षा कराने वाले गिरोहों के सक्रिय होने की सूचनाएं प्राप्त हुई थीं. इसी आधार पर मुजफ्फरनगर जिले से तीन अभियुक्तों को गिरफतार किया गया है. गिरफ्तार अभियुक्तों में मेरठ का मनीष राणा, सोहनवीर तथा दीपक राठी है. यह तीनों परीक्षाओं में साल्वर का काम करते थे. इनके पास से 13 प्रवेश पत्र तथा अन्य सामान बरामद हुआ है. एसटीएफ इनसे पूछताछ करके गिरोह के अन्य सदस्यों के बारे में जानकारी हासिल कर रही है.