अलीगढ़. उत्तर प्रदेश के अलीगढ़ में पैसे की रंजिश को लेकर 3 साल की मासूम बच्ची के अपहरण और उसके बाद वहशियाना तरीके से हत्या के मामले ने तूल पकड़ लिया है. मामला चूंकि दो समुदायों से जुड़ा हुआ है, इसलिए इस दर्दनाक घटना पर सियासी बयानबाजी भी होने लगी है. दरअसल, अलीगढ़ के टप्पल इलाके में गुरुवार को कूड़े के ढेर के नीचे से 3 साल की मासूम बच्ची का शव बरामद किया गया था. पुलिस के मुताबिक, वहशी दरिंदों ने इस मासूम बच्ची का पहले अपहरण किया और बाद में उसकी हत्या कर दी. दरिंदों की हैवानियत इतने पर ही नहीं थमी, उन लोगों ने हत्या के बाद मासूम की दोनों आंखें भी निकाल ली थीं. बच्ची का शव बरामद होने के बाद इलाके में तनाव फैल गया. इसे देखते हुए इलाके में बड़े पैमाने पर पुलिस बल को तैनात किया गया है.

बच्ची के पिता से थी पैसे को लेकर रंजिश
पुलिस ने शुरुआती पड़ताल के आधार पर बताया कि घटना के पीछे रुपए के लेन-देन का विवाद है. पुलिस ने घटना को लेकर दो आरोपियों के खिलाफ केस दर्ज किया है. अलीगढ़ के एसएसपी आकाश कुलहरि ने गुरुवार को बताया कि 31 मई को टप्पल से लापता हुई तीन साल की बच्ची का क्षत-विक्षत शव गत दो जून को उसके घर के पास एक कूड़े के ढेर में दबा पाया गया. उन्होंने बताया कि बच्ची के पिता बनवारी लाल शर्मा की शिकायत पर जाहिद और असलम नामक व्यक्तियों को गिरफ्तार किया गया है. उनसे पूछताछ में पता चला है कि दोनों आरोपियों का बच्ची के पिता से धन के लेन-देन को लेकर झगड़ा हुआ था. कुलहरि ने बताया कि बच्ची की पोस्टमार्टम रिपोर्ट में बच्ची से बलात्कार के संकेत नहीं मिले हैं. उसकी गला दबाकर हत्या की गई है. मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक बच्ची के पिता ने हत्या के आरोपियों से 10 हजार रुपए उधार लिए थे. पैसे न लौटाने को लेकर दोनों पक्षों के बीच विवाद हुआ था, जिसके बाद आरोपियों ने इस शर्मनाक करतूत को अंजाम दिया.

यह भी पढ़ें – यूपी: शौचालयों की दीवारों पर लगाई महात्मा गांधी की तस्वीर वाली टाइलें, हंगामा

आरोपियों पर NSA लगाने की कार्यवाही शुरू
एसएसपी ने कहा कि वारदात की गंभीरता को देखते हुए दोनों अभियुक्तों पर राष्ट्रीय सुरक्षा कानून (NSA) लगाए जाने की कार्यवाही शुरू कर दी गई है. मामले की फास्ट ट्रैक अदालत में सुनवाई कराए जाने की भी प्रक्रिया शुरू की गई है. कुलहरि ने बताया कि मामला दो समुदायों से जुड़ा होने की वजह से पैदा हुए तनाव के मद्देनजर बड़ी संख्या में पुलिस के जवानों को तैनात किया गया है. घटना को लेकर स्थानीय लोगों ने बच्ची के साथ दुष्कर्म किए जाने का भी आरोप लगाया, लेकिन अलीगढ़ पुलिस ने ऑफिशियल टि्वटर हैंडल पर पोस्ट कर कहा कि इस तरह की बातें अफवाह हैं. बच्ची के शव की पोस्टमार्टम रिपोर्ट में ऐसी किसी घटना का जिक्र नहीं आया है.

सोशल मीडिया पर घटना की चर्चा
अलीगढ़ में 3 साल की बच्ची की हत्या को लेकर जहां एक तरफ शहर में तनाव का माहौल है. वहीं, कई जानी-मानी हस्तियों ने सोशल मीडिया पर इस दर्दनाक वाकये को लेकर दुख जताया है. बॉलीवुड एक्टर अनुपम खेर ने बच्ची की दुष्कर्म के बाद हत्या को लेकर ट्वीट किया, ‘यह बर्बरता है. 3 साल की मासूम को दुष्कर्म के बाद मार डाला गया. यह शर्मनाक है. घटना के दोषियों को सरेआम फांसी की सजा दी जानी चाहिए.’ मशहूर टेनिस स्टार सानिया मिर्जा ने अपने ट्वीट में कहा, ‘अमानवीय और बर्बरतापूर्ण घटना. घटना में शामिल दोषियों को जल्द से जल्द सख्त सजा मिले ताकि बच्ची के परिवार को न्याय मिल सके. मेरी सहानुभूति पीड़ित परिवार के साथ है.’

ट्वीट कर कहा- जल्द मिले इंसाफ
3 साल की बच्ची की हत्या को लेकर बॉलीवुड अभिनेत्री गुल पनाग, एक्टर अभिषेक बच्चन और भारतीय क्रिकेट टीम के सलामी बल्लेबाज शिखर धवन ने भी ट्वीट कर घटना पर नाराजगी जताई. गुल पनाग ने अपने ट्वीट में कहा, ‘हम ऐसे देश में रहते हैं जहां मासूम बच्चियां भी सुरक्षित नहीं हैं. ऐसी वारदात को अंजाम देने वाले आरोपियों के लिए फांसी की सजा भी कम है.’ टीम इंडिया के सलामी बल्लेबाज शिकर धवन ने कहा, ‘अलीगढ़ की बर्बरतापूर्ण घटना से मन विचलित है. कोई किसी मासूम बच्ची के साथ ऐसा कैसे कर सकता है. मैं बच्ची के परिवार के लिए प्रार्थना करता हूं. उम्मीद है कि दोषियों को इसके लिए सख्त से सख्त सजा मिलेगी.’ बॉलीवुड एक्टर अभिषेक बच्चन ने ट्वीट किया, ‘एक बच्ची के साथ ऐसी हरकत करने के बारे में कोई सोच भी कैसे सकता है. यह अत्यंत गंभीर मामला है. मैं निःशब्द हूं.’

(इनपुट – एजेंसी)