लखनऊ: उत्तर प्रदेश के बरेली और बदायूं जिले में पिछले एक पखवाड़े में बुखार की चपेट में आकर कम से कम 36 लोगों की मौत हो गयी. इन दोनों जिलों में प्रतिदिन 600 से 700 रोगी सरकारी अस्पतालों में आ रहे हैं. उधर, बुखार के प्रकोप को लेकर स्वास्थ्य मंत्री सिद्धार्थनाथ सिंह ने बरेली का आकस्मिक दौरा किया. इस दौरान उन्होंने जिला अस्पताल का निरीक्षण करने के साथ-साथ जनप्रतिनिधियों और अफसरों के साथ बैठक की. स्वास्थ्य मंत्री सिद्धार्थनाथ सिंह ने कहा कि बरेली में बुखार से हुई मौतों की संख्या का पता लगाने के लिए डैथ ऑडिट होगा. स्वास्थ्य महानिदेशक डा. पदमाकर सिंह ने भी व्यवस्था का जायजा लिया. Also Read - UP: वकील बेटे ने पूजा कर रहे रिटायर्ड शिक्षक पिता को गोलियों से भूना, मां को भी मार डाला

Also Read - OMG! एक साल का बच्चा निगल गया 6 इंच लंबा जहरीला सांप, फिर ये हुआ...

  Also Read - खेलते-खेलते जहरीले सांप को जिंदा ही निगल गया एक साल का बच्चा, मां ने मुंह में देखा पूंछ और फिर..

स्वास्थ्य मंत्री ने बैठक के बाद पत्रकारों को बताया कि कुछ तो गड़बड़ हुई है, जिससे हजारों की संख्या में बुखार के मरीज पंजीकृत हुए. उन्होंने बताया कि अभी हाल में 18790 रोगियों का इलाज किया गया है, जिसमें 8317 मरीज बुखार के हैं. स्वास्थ्य मंत्री ने बताया कि बरेली जिले के आंवला तहसील क्षेत्र के पांच ब्लॉकों में बुखार का प्रकोप ज्यादा है. वहां की इलाज की समुचित व्यवस्था की जा रही है. इस बीच बरेली पहुंचे महानिदेशक स्वास्थ्य डा. पदमाकर सिंह ने पत्रकारों से बताया कि बरेली और बदायूं जिलों में प्रतिदिन 600 से 700 रोगी सरकारी अस्पतालों में आ रहे है, उनका दावा है कि इनमें से बुखार के रोगियों की संख्या 20 प्रतिशत से भी कम है.

गृह मंत्री राजनाथ सिंह का दावा, भगोड़े लोगों के खिलाफ प्रभावी कदम उठा रही हैं केंद्रीय एजेंसियां

दोनों जिलों में पहुंचीं स्‍वास्‍थ्‍य टीमें

वहीं, लखनऊ में निदेशक (संचारी) चिकित्सा एवं स्वास्थ्य मिथिलेश चतुर्वेदी ने बताया कि चिकित्सा एवं स्वास्थ्य विभाग द्वारा गठित तीन राज्य स्तरीय चिकित्सीय दल जनपद बरेली एवं बदायूं पहुंच चुके हैं. साथ ही भारत सरकार की ओर से एक पांच सदस्यीय चिकित्सीय दल भी जनपद बरेली पंहुच चुका है. उन्होंने बताया कि बदायूं में प्रभावित ब्लाकों में निरोधात्मक एवं उपचारात्मक गतिविधियों को और अधिक व्यापक रुप से कराये जाने हेतु ब्लॉक स्तर पर 26 एवं जनपद स्तर पर 4 टीमों का गठन किया गया है. बरेली के प्रभावित ब्लाकों में 30 टीमों का गठन किया गया है.

मथुरा: थाने के बाहर धरने पर बैठे बीजेपी विधायक, कहा- दरोगा-सिपाही लेते हैं घूस, जनता परेशान

जिला मलेरिया अधिकारी सस्‍पेंड, एडी हेल्‍थ को हटाया

उन्होंने बताया कि बरेली में संचारी रोग कार्ययोजना में लापरवाही बरतने के आरोप में जिला मलेरिया अधिकारी डॉ पंकज जैन को तत्काल प्रभाव से निलंबित कर दिया गया है. साथ ही बरेली के एडी हेल्थ एसके अग्रवाल को तत्काल प्रभाव से हटा दिया गया है. बरेली के मुख्य चिकित्साधिकारी (सीएमओ) डा. विनीत सिंह ने बताया कि पिछले 15 दिनों में बरेली में बुखार से 20 लोगों की मौत हुई है. वहीं बंदायू के मुख्य चिकित्साधिकारी डा मंजीत सिंह ने बताया कि पिछले 15 दिन में बंदायू जिले में बुखार से 16 रोगियो की मौत हुई है.