UP Accident: उत्तरप्रदेश के गोंडा के महाराजगंज मोहल्ले के एक पुराने कुएं में गिरे बछड़े को बचाने उतरे पांच युवकों की डूबकर मौत हो गई. डूबने वालों में दो युवक सगे भाई बताए जा रहे हैं जबकि तीन युवक अलग अलग घरों के हैं. हादसे के बाद पुलिस व फायर ब्रिगेड की टीम ने दो घंटे तक रेस्क्यू ऑपरेशन चलाकर शव को बाहर निकाला. इस हादसे के बाद पीड़ित परिवारों का रो-रोकर बुरा हाल है. Also Read - बछड़े को बचाने के लिए कुएं में उतरे 5 लोग, सभी की मौत, बछड़ा जिंदा बचा

जानकारी के मुताबिक मंगलवार की दोपहर महाराजगंज मोहल्ले के बरमबाबा स्थान पर स्थित कुएं में एक बछड़ा गिर गया था. बछड़े को बचाने के लिए वैभव पुत्र बहादुर कुएं में उतर गया. बताया जाता है कि वैभव वहीं अचेत हो गया. इसके बाद वैभव को बचाने के लिए कुएं के बाहर खड़े वष्णिु पुत्र रामेश्वर, छोटू व रिंकू पुत्रगण शंकर बारी भी कुएं में उतर गए. Also Read - झारखंड: सेप्टिक टैंक की सफाई करने उतरे 6 लोग जहरीली गैस की चपेट में आए, सभी की मौत

चार युवकों के कुएं में फंसा देखकर उधर से गुजर रहा युवक मन्नू सैनी पुत्र शुभलाल निवासी पोर्टरगंज भी कुएं में कूद गया. बताया जाता है कि कुएं में जहरीली गैस के रिसाव से पांचों युवक पहले अचेत हुए फिर पानी में ही गिर गए जिससे उसमे डूबकर सभी की मौत हो गई. धटना का पता चलने के बाद चारों तरफ कोहराम मच गया. Also Read - आंध्र प्रदेश में केमिकल फैक्टरी से जहरीली गैस लीक, 1 बच्चे सहित 3 की मौत, 200 बीमार

दो सगे भाइयों छोटू व रिंकू के मौत की खबर आहत मां विनीता देवी ने भी कुएं में कूद कर जान देने की कोशिश की लेकिन पास खड़े लोगों ने उसे कुएं के पास जाने से पहले ही पकड़ लिया.अपने दो बेटों को खोने के बाद मां विनीता जैसे मानसिक संतुलन खो चुकी है. वह रोते-रोते बेहोश हो जाया करती है.

घटना की सूचना पाते ही पुलिस व फायर ब्रिगेड की टीम मौके पर पहुंची. कुएं में पानी भरकर पांचों युवकों के शवों को बाहर निकाला गया. डीएम डॉ. नितिन बंसल व एसपी आरके नैय्यर भी घटनास्थल पर पहुंचे और पीड़ित परिवारों को ढांढस बंधाया. डीएम डॉ. बंसल ने बताया कि पीड़ित परिवारों की हर संभव सरकारी मदद की जाएगी.