Weekend lockdown in UP: कोरोना वायरस का कहर इन दिनों उत्तर प्रदेश में तेजी से बढ़ रहा है. पिछले 20 दिनों में कोरोना के मामलों में तेजी से बढ़ोत्तरी हुई है. राज्य की योगी सरकार ने संक्रमण को रोकने के लिए 31 अगस्त तक पूरे प्रदेश में वीकेंड लाकडाउन (Uttar Pradesh Weekend Lockdown) लागू किया है. हालांकि इसमें जनता को कुछ रियायतों के साथ छूट भी दी गई है. वीकेंड लॉकडाउन 55 घंटे (55 Hours Weekend lockdown) का होगा जो कि शुक्रवार रात दस बजे से शुरू होकर सोमवार सुबह पांच बजे तक जारी रहेगा. Also Read - कर्मचारियों की छंटनी नहीं करेगी विस्तारा, सीईओ ने कहा, सितंबर के अंत तक दैनिक उड़ानें बढ़ाएंगे

कल रात से लागू लॉकडाउन के दौरान राज्य में अब पूरी तरह से सभी दकानें और दफ्तर बंद रहेंगे, लेकिन जरूरी सेवाओं पर किसी तरह की रोक नहीं लगाई है. लॉकडाउन के दौरान सबसे ज्यादा सेनेटाइजेशन के काम पर ध्यान दिया जाएगा ताकि संक्रमण के फैलाव को रोका जा सके. Also Read - Lockdown in Chhattisgarh: कोविड-19 के संक्रमण के चलते छत्तीसगढ़ में 28 सितंबर तक लगेगा लॉकडाउन, रायपुर बना कंटेनमेंट जोन

Weekend lockdown in UP Latest News and New Guidelines Also Read - पीएम मोदी कोरोना के हालात पर 23 सितंबर को राज्यों के मुख्यमंत्रियों से करेंगे बातचीत! क्या फिर से लगेगा लॉकडाउन?

लॉकडाउन के दौरान यातायात सेवाएं एक बार फिर से दो दिनों तक पूरी तरह से बंद रहेंगी. ट्रेनें चलेंगी. इसके साथ ही ज़रूरी सेवाएँ छोड़कर बाकी बाज़ार पूरी तरह से बंद रहेगा. अब शनिवार से लेकर सोमवार तक शहरी और ग्रामीण क्षेत्रों में लगने वाले हाट, बाजार, गल्ला मंडी, व्यावसायिक प्रतिष्ठान बंद रहेंगे. शेष दिवसों यानी सोमवार से शुक्रवार के बीच उनके खुलने की अवधि सुबह नौ बजे से रात नौ बजे तक सरकार ने तय की है.

इस अवधि में सभी वृहद निर्माण कार्य जैसे एक्सप्रेसवे, बडे पुल एवं सडकें, लोक निर्माण विभाग के बड़े निर्माण, सरकारी भवन तथा निजी परियोजना जारी रहेंगी. अंतरराष्ट्रीय एवं घरेलू हवाई सेवा यथावत जारी रहेगी और हवाई अड्डों से अपने गंतव्य स्थल को जाने वाले यात्रियों के आवागमन पर कोई प्रतिबंध नहीं होगा. लॉकडाउन के दौरान मालवाहक वाहनों के आवागमन पर कोई प्रतिबंध नहीं होगा.

ग्रामीण इलाकों में औद्योगिक कारखाने खुले रहेंगे. सोशल डिस्टेंसिंग के साथ काम होगा. शहरी इलाकों में निरंतर चालू रहने वाले औद्योगिक कारखानों को छोड़ बाकी सब बंद रहेंगे. इस अवधि में आवश्यक सेवाओं से सम्बंधित कार्यालय इन प्रतिबंधों से मुक्त रहेंगे. इन सेवाओं के कमर्चारियों का पहचान पत्र ही ड्यूटी पास माना जायेगा और इन्हें रोका नहीं जायेगा.