लखनऊ: उत्तर प्रदेश के कानपुर में स्थित चंद्रशेखर आजाद कृषि एवं प्रौद्योगिकी विश्वविद्यालय में नए छात्रों को पीटने और विश्वविद्यालय का अतिथि गृह क्षतिग्रस्त करने के आरोप में तकरीबन 80 छात्रों को उनके छात्रावास से निष्कासित कर दिया गया है.

विश्वविद्यालय के कुलपति सोलोमन ने कहा कि निष्कासित छात्रों के माता-पिता को नोटिस भेजकर उन्हें निजी तौर पर विश्वविद्यालय में उपस्थित होने का निर्णय किया गया है. नोटिस में उनसे कहा जाएगा कि वे विश्वविद्यालय आकर हलफनामा दें कि उनके बच्चे नए छात्रों को परेशान नहीं करेंगे और भविष्य में कानून को अपने हाथ में नहीं लेंगे. उन्होंने कहा कि हमने विश्वविद्यालय परिसर में नव निर्मित अतिथि गृह को क्षतिग्रस्त करने के लिए छात्रों पर भारी जुर्माना लगाने का भी फैसला किया है.

बीएचयू प्रशासन उपद्रवियों को लेकर सख्त, 50 छात्रों के दोबारा प्रवेश पर लगाई रोक

सीनियर छात्रों ने जूनियरों से किया झगड़ा
कुलपति ने बताया कि कर्पूरी ठाकुर छात्रावास और आरएसआरपी छात्रावास में रहने वाले करीब 70-80 वरिष्ठ छात्रों का कनिष्ठ छात्रों से झगड़ा हो गया था. उन्होंने बताया कि घटना में कई कनिष्ठ छात्रों को चोटें आई और उन्हें प्राथमिक उपचार के बाद अस्पताल से छुट्टी दे दी गई.