लखनऊ: समाजवादी पार्टी (सपा) महासचिव और उत्तर प्रदेश के पूर्व मंत्री आजम खां पर बाबा साहब डॉक्टर भीमराव आंबेडकर के खिलाफ अपमानजनक टिप्पणी करने के आरोप में मुकदमा दर्ज किया गया है.

भाजपा हर चुनाव मेरे नाम पर लड़ती है, मैं राजनीतिक आइटम गर्ल: आजम खान

आंबेडकर महासभा के महासचिव अमरनाथ प्रजापति की तहरीर पर खां के खिलाफ मंगलवार को हजरतगंज कोतवाली में मुकदमा दर्ज किया गया. प्रजापति ने अपनी तहरीर में आरोप लगाया है कि वर्ष 2016 में गाजियाबाद में हज हाउस के उद्घाटन के दौरान खां ने आंबेडकर और उनकी मूर्तियों के प्रति आपत्तिजनक टिप्पणी की थी. उनके खिलाफ भारतीय दण्ड विधान की धारा 500 (मानहानि) और 505 (सार्वजनिक रूप से भड़काने) के तहत मुकदमा दर्ज करके जांच शुरू की गयी है. इसके पूर्व, गत 17 अक्तूबर को भी खां के खिलाफ राज्यसभा सांसद अमर सिंह की तहरीर पर मुकदमा दर्ज किया गया था. सिंह ने खां पर अपनी बेटियों को तेजाब से जलाने की धमकी देने का आरोप लगाया था.

अमर सिंह का सपा पर हमला, कहा- ऐसा कोई सगा नहीं जिसे अखिलेश ने ठगा नहीं

अमर सिंह ने आजम खान के खिलाफ लिखाई रिपोर्ट
बता दें कि बीते दिनों राज्य सभा सदस्य अमर सिंह ने समाजवादी पार्टी के नेता आजम खान के खिलाफ कथित तौर पर उनकी बेटियों पर तेजाब फेंकने की धमकी देने को लेकर पुलिस में शिकायत दी थी. जिसके बाद पुलिस ने आजम खान के खिलाफ प्राथमिकी दर्ज की था. अमर सिंह ने संवाददाताओं को बताया था कि उन्‍होंने तेजाब फेंकने की धमकी देने के मामले में आजम खान के खिलाफ एफआईआर दर्ज करने के लिए गोमती नगर पुलिस थाने में प्रार्थना-पत्र दिया था. सिंह ने दावा किया कि समाजवादी पार्टी (सपा) नेता ने एक टीवी चैनल को दिये साक्षात्कार में उनपर और उनकी 17 वर्षीय जुड़वां बेटियों को धमकी दी थी.