बांदा: उत्‍तर प्रदेश के बांदा जिले में एक एग्रीकल्‍चर कॉलेज के प्रिंसिपल और दो लेक्‍चरर्स के खिलाफ 5 छात्राओं ने यौन शोषण का आरोप लगाया है. इस मामले में पुलिस ने कहा है कि जांच पूरी होने के बाद तथ्यों के आधार पर आगे की कार्यवाही की जाएगी. अभी किसी की गिरफ्तारी नहीं हुई है.

बता दें कि बांदा जिला पंचायत द्वारा संचालित कृषि महाविद्यालय की पांच छात्राओं ने कॉलेज के प्रधानाचार्य और दो शिक्षकों पर यौन शोषण करने का आरोप लगाया है.

बांदा के एक कॉलेज की एक छात्रा ने प्रिंसिपल और 2 शिक्षकों के खिलाफ यौन उत्पीड़न का आरोप लगाया है. डीएसपी आलोक मिश्रा ने कहा, “शिकायत दर्ज कर ली गई है. अब तक एक शिकायत आई है, अगर कोई अपना बयान देना चाहता है तो वे आगे आ सकते हैं.

नगर पुलिस उपाधीक्षक (सीओ, सिटी) आलोक मिश्रा ने गुरुवार को बताया कि जिला पंचायत द्वारा संचालित कृषि महाविद्यालय में पढ़ने वाली एक छात्रा की तहरीर पर कॉलेज के प्रधानाचार्य आर.के. गुप्ता, शिक्षकों प्रशांत यादव और शैलेन्द्र अवस्थी के खिलाफ बुधवार को यौन शोषण करने और धमकाने का मुकदमा दर्ज किया गया है. बाकी चार छात्राओं ने मौखिक रूप से यौन उत्पीड़न का आरोप लगाया है.

पुलिस अधिकारी बताया कि मामले में अभी पीड़ित छात्रा का सीआरपीसी की धारा-164 के तहत अदालत में बयान दर्ज नहीं हो पाया है. बयान दर्ज होने के बाद विस्तृत जांच की जाएगी. मिश्रा ने बताया कि जांच पूरी होने के बाद तथ्यों के आधार पर आगे की कार्यवाही की जाएगी. अभी किसी की गिरफ्तारी नहीं हुई है.

वहीं, कृषि महाविद्यालय के प्रधानाचार्य आर.के. गुप्ता ने कहा कि एक छात्रा ने उनके समक्ष पेश होकर शिक्षक प्रशांत यादव की शिकायत की थी, जिसे निलंबित किया जा चुका है. उन्होंने कहा, मेरे ऊपर लगाए जा रहे आरोप झूठे हैं.