लखनऊ: बाराबंकी जिले में पुलिस को अयोध्या में आतंकवादी हमले की साजिश की झूठी खबर देने के मामले में आज एक व्यक्ति को गिरफ्तार कर लिया गया. एसपी वी.पी. श्रीवास्तव ने यहां बताया कि फर्जी पहचान पत्र के जरिए मोबाइल सिमकार्ड खरीदकर उससे पुलिस की डायल-100 सेवा पर फोन करके अयोध्या में आतंकवादी वारदात की साजिश की झूठी खबर देने के आरोप में वसीम नामक व्यक्ति को शहर कोतवाली क्षेत्र स्थित आलापुर पुलिया के पास से गिरफ्तार कर लिया गया. उसके पास से घटना में इस्तेमाल मोबाइल फोन और सिम कार्ड बरामद किया गया है. Also Read - थाने में प्यार, इकरार: फिर पुलिस वाली लड़की ने सिपाही प्रेमी को खौफनाक तरीके से मारा, और...

उन्होंने बताया कि शिवराज नामक व्यक्ति ने कल शहर कोतवाली में तहरीर देकर आरोप लगाया था कि किसी अज्ञात व्यक्ति ने उसके मूक-बधिर भाई लल्ला के नाम से फर्जी पहचान पत्र बनवाकर सिमकार्ड खरीदा है और डायल-100 तथा अन्य नम्बरों पर फोन करके पुलिस और अन्य लोगों को परेशान करता है. पुलिस सिमकार्ड की आईडी के आधार पर शिवराज और उसके परिजन से पूछताछ करती है. Also Read - कोरोना संकट के बीच अयोध्‍या में शनिवार से शुरू होगी रामलीला, राजनीतिक और बॉलीवुड कलाकार लेंगे हिस्सा

एसपी के मुताबिक, तहरीर में यह भी आरोप लगाया गया कि उस व्यक्ति ने गत शनिवार को डायल-100 पर फोन करके अयोध्या में विश्व हिंदू परिषद की धर्म सभा के दौरान आतंकवादी घटना होने साजिश की फर्जी सूचना दी थी. इसके पीछे भी उसका मकसद शिवराज और उसके परिजन को परेशान करना था. Also Read - Ayodhya Ram Mandir: रामेश्वरम से बुलेट रानी लाईं 613 किलो का घंटा, अयोध्या के राममंदिर में लगा, कई किलोमीटर गूंजेगी ध्वनि

श्रीवास्तव ने बताया कि मामले की जांच के बाद स्वाट और सर्विलांस टीम की मदद से वसीम को गिरफ्तार किया गया. उसने पूछताछ में अपना जुर्म कुबूल किया है. उसने बताया है कि उसने गत 24 नवंबर की रात को अयोध्या में अगले दिन आयोजित होने वाली धर्म सभा के मद्देनजर उन्माद फैलाने की नीयत से कार्यक्रम में बाधा पैदा करने के लिए डायल-100 पर फोन करके अयोध्या में आतंकवादी वारदात कराने की बात कही थी.