लखनऊ| देश भर में महिलाओं के साथ दुष्कर्म की घटनाएं थमने का नाम नहीं ले रहीं हैं. उत्तर प्रदेश के जालौन जिले से एक महिला के साथ गैंगरेप का मामला सामने आया है. यह वारदात ठीक वैसी ही है जैसी कुछ दिन पहले बुलंदशहर में हुई थी. गुरुवार को यहां एक महिला के साथ 8 लोगों ने उसके पति के सामने कथित तौर पर बलात्कार किया और दंपति के साथ लूटपाट भी की.

बताया जा रहा है कि दंपत्ति जयपुर से अपने गांव गोहन लौट रहा था. यहां औरय्या पहुंचने के बाद वे पब्लिक ट्रांसपोर्ट का इंतजार कर रहे थे. लेकिन तभी वहां से एक लोडर ड्राईवर ने उन्हें लिफ्ट ऑफर की. दंपत्ति उसमें बैठ गए. थोड़ी देर बाद ही सहाब मोड़ के पास 8 हथियार बंद लोगों ने लोडर को रोक लिया और पति पत्नी को सुनसान जगह पर ले जाकर उनके साथ लूट-पाट की. इतना ही नहीं उन्होंने पति को बंधक बनाकर पत्नी के साथ बलात्कार भी किया. बाद में बदमाशों ने उन्हें जालौन औरय्या हाइवे पर छोड़ दिया और फरार हो गए.

किसी तरह दंपति ने पुलिस के पास पहुंच कर अपनी शिकायत दर्ज कराई. जिसके बाद डीआईजी शरद सचान ने घटना स्थल पर पहुंचकर मामले की जांच करना शुरू कर दी है. बताया जा रहा है कि मामले की जांच के लिए उन्होंने 5 टीमें बनाई है. इस मामले में अब तक 20 संदिग्ध लोगों को हिरासत में लिया जा चुका है. पुलिस इनसे पूछताछ कर रही है. वहीं महिला का मेडिकल चेकअप कराया गया है, जिसकी रिपोर्ट अभी आना बाकी है.

युवक जयपुर में पानी के बतासे का ठेला लगाता है और वह कुछ दिनों के लिए अपनी पत्नी के साथ घर आ रहा था. इस घटना के बाद पुलिस प्रशासन में हड़कंप मच गया है. डीआईजी का कहना है कि किसी भी कीमत पर दोषियों को बख्शा नहीं जाएगा.

बता दें बीते साल जुलाई में उत्तर प्रदेश के बुलंद शहर में हाइवे पर मां और उसकी 13 साल की बेटी के साथ कुछ लोगों ने सामूहिक रूप से बलात्कार किया था. इस घटना के बाद तत्कालीन सत्ताधारी सपा सरकार की देश भर में जमकर आलोचना हुई थी.