दिल्ली की मालवीय नगर सीट से आम आदमी पार्टी (AAP) के विधायक सोमनाथ भारती को उत्तर प्रदेश के अस्पतालों को लेकर की गई कथित विवादित टिप्पणी के मामले में सोमवार को रायबरेली में गिरफ्तार कर लिया गया. जमानत अर्जी खारिज होने की वजह से उन्हें जेल भेज दिया गया. भारती रविवार की रात सिंचाई विभाग के गेस्ट हाउस में रुके थे. सोमवार की सुबह बेहद नाटकीय घटनाक्रम के तहत एक युवक ने भारती पर स्याही फेंक दी. उस वक्त वह क्षेत्र में जाने के लिए तैयार होकर बाहर निकल रहे थे. पुलिस ने भारती पर स्याही फेंकने वाले युवक को गिरफ्तार कर लिया है. Also Read - शिवपाल सिंह का बड़ा ऐलान, बोले- भाजपा से नहीं, सपा के साथ करेंगे गठबंधन

इस बीच, भारती की मौजूदगी की सूचना मिलते ही अमेठी पुलिस वहां पहुंची और उत्तर प्रदेश के अस्पतालों को लेकर की गई विवादित टिप्पणी के मामले में अमेठी के जगदीशपुर थाने में दर्ज मुकदमे के सिलसिले में भारती को गिरफ्तार कर अमेठी ले गई. बाद में भारती को सुलतानपुर जिले में स्थित एमपी/एमएलए अदालत में पेश किया गया. जज पीके जयंत ने भारती की जमानत अर्जी खारिज कर सुनवाई के लिए 13 जनवरी की तारीख तय करते हुए उन्हें जेल भेज दिया.

सरकारी वकील दान बहादुर वर्मा ने अदालत से कहा कि इस मामले में पुलिस द्वारा जब तक संबंधित पत्रावली नहीं पेश किया जाता, तब तक जमानत अर्जी पर सुनवाई सम्भव नहीं है. इसी आधार पर न्यायाधीश ने जमानत अर्जी खारिज कर 13 जनवरी को सुनवाई की तारीख तय कर दी. दिल्ली के कानून मंत्री रह चुके सोमनाथ भारती के साथ हुए इस मामले को लेकर आप और सत्तारूढ़ भाजपा के बीच आरोप-प्रत्‍यारोप का दौर शुरू हो गया है.

भारतीय जनता पार्टी के प्रदेश उपाध्‍यक्ष और विधान परिषद सदस्‍य विजय बहादुर पाठक ने दिल्‍ली के मुख्‍यमंत्री अरविंद केजरीवाल को टैग करते हुए ट्वीट किया, ‘हमारे लिए स्‍कूल शिक्षा के मंदिर हैं आप उसे राजनीति का केंद्र बनाने के प्रयत्‍न में जुटे हुए हैं, स्‍वागत है आएं किसी स्‍कूल में जाएं पर उद्देश्य तो ठीक रखें, कोई राजनीतिक व्‍यक्ति किसी मुख्यमंत्री के लिए ऐसे बयान कैसे दे सकता है जैसा आप के विधायक ने किया है.

इसके पहले दिल्‍ली के मुख्‍यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने ट्वीट किया, ‘योगी जी, हमारे विधायक सोमनाथ भारती आपका सरकारी स्‍कूल देखने जा रहे थे. उन पर स्‍याही फ‍िंकवा दी. फ‍िर उन्‍हें ही गिरफ्तार कर लिया. आपके स्‍कूल इतने ज्‍यादा खराब हैं क्‍या? कोई आपका स्‍कूल देखने जाए तो आप इतना डर क्‍यों जाते हो. स्‍कूल ठीक कीजिए. नहीं करना आता तो मनीष सिसोदिया से पूछ लीजिए.

इस मामले पर प्रतिक्रिया व्‍यक्‍त करते हुए मुख्‍यमंत्री के सूचना सलाहकार शलभ मणि त्रिपाठी ने कहा, ‘लोकतंत्र में चुनाव लड़ने और राजनीति करने का सभी अधिकार है लेकिन अभद्र भाषा का उपयोग कतई उचित नहीं है. केजरीवाल खुद मुख्‍यमंत्री हैं और उन्‍हें उत्‍तर प्रदेश के मुख्‍यमंत्री के बारे में सोमनाथ भारती के दिये गये बयान के लिए देश भर से माफी मांगनी चाहिए.

(इनपुट: भाषा)