नई दिल्ली: आम आदमी पार्टी द्वारा उत्तर प्रदेश विधानसभा चुनाव लड़ने की घोषणा की गई है. अब 22 दिसंबर को दिल्ली के उप मुख्यमंत्री मनीष सिसोदिया लखनऊ जाएंगे. आम आदमी पार्टी के मुताबिक उत्तर प्रदेश के मंत्रियों ने उन्हें शिक्षा के मुद्दे पर बहस करने की खुली चुनौती दी है. दिल्ली के शिक्षा मंत्री मनीष सिसोदिया ने उत्तर प्रदेश के सरकारी स्कूल देखने की चुनौती को स्वीकार किया है. उप मुख्यमंत्री मनीष सिसोदिया ने बुधवार को कहा, “मैं इस चुनौती को स्वीकार करता हूं. मैं 22 दिसंबर को लखनऊ आ रहा हूं. आप बता दीजिए कब और कहां डिबेट करनी है.” Also Read - School Reopening Latest Updates: महाराष्ट्र और हिमाचल प्रदेश में खुलने जा रहे है स्कूल-कॉलेज, जानें कब से शुरू होगा शिक्षण कार्य

वहीं दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने कहा, “योगी जी को सोते जागते उठते बैठते दिल्ली सरकार और आम आदमी पार्टी ही दिखाई देती है. योगी जी, हमारे कोरोना पर शानदार काम की चर्चा यूपी के गली मोहल्लों में हो रही है. आपकी तरह हम फर्जी कोरोना टेस्ट नहीं करते. बाकी मनीष 22 दिसंबर को आपके मंत्री के आमंत्रण पर डिबेट करने लखनऊ आ रहे हैं.” Also Read - बर्ड फ्लू के सैंपल निगेटिव आते ही दिल्ली नगर निगमों ने पोल्ट्री फॉर्म किए ओपेन, मांस की बिक्री भी शुरू

सिसोदिया ने कहा, “उत्तर प्रदेश के सरकारी स्कूल बनाम दिल्ली के सरकारी स्कूल, पर खुली बहस की चुनौती मंगलवार को भाजपा के मंत्रियों ने दी थी. हमें यह चुनौती स्वीकार है. मैं 22 दिसम्बर को खुली बहस के लिए लखनऊ आ रहा हूं, बता दीजिए कहां, कितने बजे आना है.” Also Read - Bird Flu: बर्ड फ्लू निरीक्षण के लिए क्या शिक्षकों की लगेगी ड्यूटी, शिक्षा मंत्री मनीष सिसोदिया कही ये बात

आम आदमी पार्टी के दिल्ली से राज्यसभा सांसद संजय सिंह ने भी इस विषय पर उत्तर प्रदेश सरकार को घेरने की कोशिश की. उन्होंने कहा कि, “उत्तर प्रदेश के सरकारी स्कूल बनाम दिल्ली के सरकारी स्कूल, पर खुली बहस की चुनौती हमें स्वीकार है. 22 दिसम्बर को खुली बहस के लिए लखनऊ आ रहे हैं. अब बस ये देखना है की योगी और उनके मंत्री खुली बहस से मुकर तो नहीं जाते.”

उप मुख्यमंत्री मनीष सिसोदिया ने कहा, “यूपी के मंत्री बस 10 सरकारी स्कूल दिखा दें जो उन्होंने पिछले 4 साल में अच्छे किए हों. मैं उन स्कूलों को देखना चाहूंगा. केजरीवाल मॉडल ने योगी सरकार को भी शिक्षा पर बात करने के लिए मजबूर कर दिया.”

आम आदमी पार्टी उत्तर प्रदेश में आगामी 2022 का विधानसभा चुनाव लड़ेगी. आप संयोजक और दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने मंगलवार को यह घोषणा की. केजरीवाल ने अपील की है कि यूपी के लोग आम आदमी पार्टी को एक बार मौका देकर देखें.

(इनपुटः भाषा)