मथुरा: श्रीकृष्ण जन्मभूमि की सुरक्षा में तैनात महिला कांस्टेबल पर तेजाब फेंकने वाले आरोपी संजय को पुलिस ने मुठभेड़ के बाद गिरफ्तार कर लिया है. पुलिस ने शुक्रवार शाम को पहले उसके एक साथी सोनू गिरफ्तार कर लिया था. जिससे मालूम चला कि घटना में चार नहीं, कुल पांच लोग शामिल थे लेकिन तेजाब संजय ने ही फेंका था, जबकि बाकी लोग कार में बैठे थे.

 

बता दें कि महिला कांस्टेबल नीलम शर्मा (26) बृहस्पतिवार को तड़के जब दमोदरपुरा के निकट स्थित किराए के मकान से श्रीकृष्ण जन्मस्थान की सुरक्षा ड्यूटी में जाने के लिए वाहन का इंतजार कर रही थी कि तभी उस पर कुछ लोगों ने तेजाब से हमला कर दिया था. हमलावर कार से आए थे. इनमें से खुर्जा, बुलंदशहर के गांव बिजलीपुर निवासी संजय को नीलम पहचानती थीं. संजय ने ही कार से उतरकर उस पर तेजाब फेंका था. वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक सत्यार्थ अनिरुद्ध पंकज ने बताया कि आरोपी से पूछताछ की जा रही है. उसे मुठभेड़ के दौरान पैर में गोली लगने के बाद घायल होने पर पकड़ा गया है. उसे जिला अस्पताल में भर्ती कराया गया है. उससे पूछताछ में पता चला है कि सोनू, हिमांशु और बॉबी के अलावा एक अन्य युवक किशन भी उन लोगों के साथ वारदात में शामिल था.

अब एसिड अटैक पीड़ितों को नौकरी में मिलेगा कोटा

हमले के बाद डरी हुई है महिला सिपाही
उन्होंने बताया कि संजय ने उन लोगों से कहा था कि अगर महिला सिपाही तेजाब हमले में किसी तरह बच भी जाती है तो उसे गोली मार देंगे लेकिन छोड़ेंगे नहीं. वह तो उसकी साथी सिपाही नीतू को भी मार डालने की बात कर रहा था. अब पुलिस इस मामले के बाकी तीन आरोपियों की तलाश में जुट गई है. दूसरी ओर, पीड़ित महिला सिपाही के परिजनों ने पुलिस अधिकारियों से और कड़ी सुरक्षा की मांग की है. महिला सिपाही नीलम इस समय बेहद डरी हुई है. उसे डर है कि संजय उसे जिन्दा नहीं छोड़ेगा. एसएसपी ने पीड़ित सिपाही एवं उसके परिजनों को हरसंभव सुरक्षा देने का वादा किया है. (इनपुट भाषा)