पटना: अगर आप बिहार के रहने वाले हैं या फिर बिहार में किसी भी काम से हैं तो यह खबर आपके लिए जानना काफी जरूरी है. अब आपको बिहार सरकार के मंत्रियों या फिर किसी सरकारी अधिकारी के खिलाफ काफी सोच समझ कर सोशल मीडिया में पोस्ट करना होगा. ऐसा हम इसलिए कह रहे हैं क्योंकि अब आपका एक पोस्ट आपको जेल की सलाखों के पीछे भेज सकता है. दरअसल बिहार में एक फरमान जारी किया गया है कि अगर किसी भी बिहारी मंत्री या फिर सरकारी अफसरों के खिलाफ सोशल मीडिया में किसी तरह की आपत्तीजनक टिप्पणी होगी तो पोस्ट करने वाले के खिलाफ कार्रवाई की जाएगी.Also Read - चिराग पासवान ने 'जहरीली शराब' को लेकर राज्यपाल को लिखी चिट्ठी, बिहार में राष्ट्रपति शासन लगाने की मांग की

बिहार में अब आप अगर सोशल मीडिया पर सरकार, मंत्री, सांसद, विधायक और सरकारी अधिकारियों के खिलाफ आपत्तिजनक, अभद्र एवं भ्रांतिपूर्ण टिप्प्णियां करते हैं, तो आप पर सख्त कार्रवाई की जा सकती है. बिहार पुलिस द्वारा जारी एक पत्र में कहा गया है कि ऐसी टिप्पणियां करने वालों पर सख्त कार्रवाई की जाएगी. Also Read - Bihar में बढ़ाई गई कोरोना पाबंदियां, 6 फरवरी तक लागू रहेंगे सभी मौजूदा प्रतिबंध; जानें क्या बोले नीतीश कुमार

Also Read - Bihar Liquor News: बिहार में शराबबंदी कानून में ढील की तैयारी में नीतीश सरकार! पहली बार शराब के साथ पकड़े गए तो सिर्फ...

आर्थिक अपराध इकाई के अपर पुलिस महानिदेशक नैयर हसनैन खान ने सरकार के सभी प्रधान सचिव और सचिव को एक पत्र लिखकर कहा है कि ऐसी सूचना प्रकाश में आ रही है कि व्यक्तियों, संगठनों द्वारा सोशल मीडिया के माध्यम से सरकार, मंत्रियों, सांसद, विधायक एवं सरकारी अधिकारियों के संबंध में आपत्तिजनक एवं भं्रातिपूर्ण टिप्पणियां की जाती हैं. यह कानून के प्रतिकूल है तथा साइबर अपराध की श्रेणी में आता है.

इसके लिए ऐसे व्यक्तियों, समूहों के विरूद्घ विधि सम्मत कार्रवाई की जानी जरूरी है. उल्लेखनीय है कि आर्थिक अपराध इकाई, आर्थिक अपराध के साथ-साथ साइबर अपराध की नोडल संस्थान है. उन्होंने पत्र में कहा है कि ऐसी सूचना मिलने पर आर्थिक अपराध इकाई को इसकी सूचना दी जाए, जिससे आर्थिक अपराध इकाई द्वारा जांच कर कार्रवाई की जा सके. गौरतलब है कि मुख्यमंत्री नीतीश कुमार सोशल मीडिया पर ऐसी टिप्पणियों पर नाराजगी जताते रहे हैं.