लखनऊ: उत्‍तर प्रदेश के आगरा जिले में सनसनीखेज घटना सामने आई है. मंगलवार को दिन दहाड़े बाइक सवार युवकों ने दसवीं की छात्रा को पेट्रोल डालकर जिंदा जलाने की कोशिश की. झुलसी छात्रा को दिल्ली के सफदरजंग अस्पताल में भर्ती कराया गया है. डाक्‍टरों के मुताबिक, छात्रा 70% जल गई है, इसके कारण उसकी हालत नाजुक बनी हुई है. उधर, आगरा जोन के अतिरिक्त डीजीपी अजय आनंद ने घटना को दुर्भाग्यपूर्ण बताया है. साथ ही उन्‍होंने कहा कि छात्रा पर हमला करने वालों को किसी भी सूरत में बख्‍शा नहीं जाएगा. उन्‍होंने आरोपियों को जल्द ही पकड़ने के निर्देश दिए हैं.

आगरा पुलिस ने बताया कि दसवीं कक्षा की छात्रा मंगलवार दोपहर करीब डेढ़ बजे स्कूल से अपने घर वापस आ रही थी. इसी दौरान आगरा-जगनेर रोड पर बाइक सवार दो युवकों ने उसे रोक लिया. प्रत्यक्षदर्शियों के मुताबिक छात्रा कुछ समझ पाती, तब तक युवक बोतल में भरा पेट्रोल उस पर डालने के बाद आग लगाकर भाग गए. लपटों में घिरी छात्रा साइकिल समेत सड़क किनारे खड्डे में जा गिरी. इसी दौरान वहां से गुजर रही एक बस के चालक ने हिम्मत दिखाई और छात्रा की आग को बुझाया और इसकी सूचना पुलिस को दी. पुलिस ने बताया कि छात्रा को एसएन मेडिकल कॉलेज में भर्ती कराया गया है जहां उसकी हालत नाजुक देखकर डाक्‍टरों ने हायर सेंटर रेफर कर दिया. इसके बाद छात्रा को दिल्‍ली के सफदरजंग अस्‍पताल में भर्ती कराया गया है.

कुशीनगर: ट्रैक्टर पर सवार महिला का दुपट्टा जनरेटर में फंसा, दर्दनाक मौत

पिता बोले- नहीं है किसी से कोई दुश्‍मनी
जूता कारखाने में काम करने वाले छात्रा के पिता ने बताया कि उनकी किसी से कोई दुश्‍मनी नहीं है. उन्‍हें नहीं पता की किसने उनकी बेटी को जान से मारने का प्रयास किया है. इस घटना से वह सदमे में हैं. एसएसपी अमित पाठक ने बताया कि छात्रा की गंभीर हालत को देखते हुए सफदरजंग अस्पताल भेजा गया है. साथ में पुलिसकर्मी भी भेजे गए हैं. जलाने वालों का सुराग लगाने के प्रयास किए जा रहे हैं.

शर्मनाक: भूख से बिलखते बच्चे के सीने पर चढ़ गया नशेड़ी बाप, अबोध की ले ली जान

डीजीपी आगरा मंडल की कर रहे थे अपराध समीक्षा, तभी हुई घटना
घटना उस वक्त हुई जब मात्र 15 किमी दूर डीजीपी ओपी सिंह आगरा मंडल की कानून व्यवस्था की समीक्षा कर रहे थे. सूचना पर पुलिस मौके पर पहुंच गई थी, घटना के पीछे के कारणों का पता नहीं चल सका है.