आगरा: उत्तर प्रदेश के आगरा में गुरुवार तड़के से हो रही मूसलाधार बारिश के चलते जहां मोहल्लों में जलभराव की समस्या बन गई, वहीं बल्केश्वर और सिंधा बाजार में इमारतें ढह गईं. उधर शहर में तेज बारिश के कारण कई मकान गिर गए, जिनकी चपेट में आकर बच्चे समेत दो लोगों की मौत होने की सूचना है.वहीं बरहन में नाले मे गिरकर दो युवकों की मौत हो गई. उधर जलभराव के कारण प्रभारी बीएसए ने सभी स्कूलों में छुट्टी घोषित कर दी है. पानी के चलते बिजली व्यवस्था भी पूरी तरह ध्वस्त है.Also Read - आजादी के 75 साल में पहली बार पाकिस्‍तान से तीर्थयात्र‍ी PIA की स्‍पेशल फ्लाइट से पहुंचेंगे भारत

Also Read - UP Election 2022: कैराना में विधायक भाई नाहिद हसन के खिलाफ चुनाव लड़ेंगी इकरा चौधरी

UP: झूम के बरसे बादल पूरा प्रदेश पानी-पानी, घाघरा व शारदा नदियां उफान पर Also Read - RPN Singh के इस्तीफे पर कांग्रेस ने कहा- हमारी लड़ाई 'कायर' नहीं लड़ सकते

तड़के तीन बजे से हो रही भारी बारिश के कारण शहर पानी में डूब गया है. शहर के दयालबाग, अलब्तिया, पीर कल्याणी, केदार नगर, आवास विकास, आजम पड़ा, सुर सदन, रोशन मुहल्ला, बिजली घर, बलजेस्वर, इंदिरापुरम, सहित तमाम इलाके भी पानी में डूब गए हैं. वहीं पृथ्वीनाथ मंदिर सहित कई मंदिरों में भी पानी घुस गया है.

वहीं देहात क्षेत्रों में भारी बारिश के कारण कई कच्चे मकान ढह गए हैं, जिसमें चार साल के बच्चे सहित दो की मौत हो गई है, जबकि कई घायल हैं. उधर बरहन रोड स्थित केसरी कोल्ड स्टोरेज के पार दो युवक नाले में गिर गए. गांव वालों ने उन्हें बाहर निकालकर हॉस्पिटल भेजा. लेकिन दोनों युवकों की मौत हो गई. मसूलाधार बारिश के कारण बल्केश्वर स्थित बिल्डिंग धराशायी हो गई हैं, हालांकि किसी हताहत होने की खबर नहीं है.

गाजियाबाद के वसुंधरा में सड़क धंसी, दो अपार्टमेंट के 80 फ्लैटों पर मंडराया खतरा

दिल्ली-एनसीआर में गुरुवार को झमाझम बारिश हुई लेकिन शुक्रवार की शाम से बारिश में थोड़ी कमी आ सकती है, क्योंकि मौसमी सिस्टम कमजोर पड़ने की संभावना है. हालांकि हल्की बारिश का सिलसिला जारी रहेगा. अगले 24 घंटों के दौरान पश्चिम बंगाल, मध्य प्रदेश, पंजाब के कुछ हिस्सों, दिल्ली, उत्तराखंड और हिमाचल प्रदेश में मध्यम से भारी बारिश हो सकती है. जम्मू-कश्मीर, बिहार, छत्तीसगढ़ और पूर्वोत्तर भारत में सक्रिय मानसून की स्थिति के साथ हल्की से मध्यम बारिश होने की संभावना है, जबकि पश्चिम राजस्थान, गुजरात और आंध्र प्रदेश में मानसून कमजोर रहेगा.