आगरा: सपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष ने एक बार फिर भाजपा पर निशाना साधा है. उन्होंने कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी को पूरी तरह भारतीय बताया. उन्होंने कहा कि वह पूरी तरह से भारतीय हैं. बीजेपी के नेता बताएं कि वो हैं या नहीं. उन्होंने बीजेपी को देश की सबसे बड़ी जातिवादी पार्टी बताया. कहा कि बीजेपी जाति के नाम से झगड़ा करती है. इसके साथ ही उन्होंने कहा कि कांग्रेस से हमारी दोस्ती है और बसपा से भी दोस्ती है. Also Read - Viral Post: पुलिस नहीं ढूंढ़ पा रही लापता भाई, बहन ने सोशल मीडिया पर लोगों से मांगी मदद

Also Read - बिहार विधानसभा चुनाव में मिली हार के बाद अब इस तैयारी में विपक्षी महागठबंधन...

बीजेपी विचलित हो रही है Also Read - GHMC Election 2020: हैदराबाद में बोले अमित शाह- जीएचएमसी चुनाव में जीत होने के बाद हैदराबाद बनेगा आईटी केंद्र, खत्म होगी निजाम संस्कृति

सपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष अखिलेश यादव आज आगरा पहुंचे थे. यहां उन्होंने कहा कि बीजेपी विचलित हो रही है. ऐसा होते देख उन्हें खुशी हो रही है. भाजपा की भाषा बदल गई है. गठबंधन के सवाल पर कहा कि गठबंधन तय करेगा कि पीएम पद का चेहरा कौन होगा. उन्होंने कहा कि देश नया प्रधानमंत्री चाहता है. अखिलेश ने कहा कि यूपी में कानून व्यवस्था पूरी तरह से ध्वस्त है. हत्याएं, रेप हो रहे हैं. सरकार हवा में तीर चला रही है.

PM कहते हैं कांग्रेस मुस्लिमों की है, मैं कहता हूं पार्टी देश की होती है किसी धर्म की नहीं: अखिलेश

देश की होती है पार्टी

बता दें कि अखिलेश यादव लगातार बीजेपी पर निशाना साध रहे हैं. सोमवार 16 जुलाई को लखनऊ में उन्होंने कहा था कि जब से सपा-बसपा की दोस्ती हुई है तब से प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी का अंदाज बदल गया है. उन्होंने कहा था कि कहा कि प्रधानमंत्री कहते हैं कांग्रेस मुस्लिमों की पार्टी है, लेकिन मैं कहता हूं पार्टी किसी धर्म की नहीं बल्कि भारतवासी की होती है. उन्होंने कहा कि मुद्दे से ध्यान भटकाना बीजेपी सरकार का काम है. अखिलेश ने कहा कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को चुनावों की तारीख पता है. उन्हें बताना चाहिए कि 2019 चुनाव किस तारीख को होंगे.

प्रधानमंत्री मोदी का भाषण ‘चुनावी जुगाड़ वाला’, हताश है बीजेपी: मायावती

आत्मविश्वास से झूठ बोलती है बीजेपी

उन्होंने कहा था कि बीजेपी के लोग झूठ भी बेहद आत्मविश्वास से बोलते हैं. उन्होंने कहा कि एक्सप्रेस-वे बनाकर वो पैसे बचा रहे हैं जबकि बलिया से एक्सप्रेस-वे को हटा दिया. तो पैसे बचेंगे ही. उन्होंने कहा कि सरकार कितने ही फीते काट ले लेकिन सड़कें समाजवादियों की बनाई ही रहेंगीं.