आगरा: सड़क बनाने के दौरान काम करने वालों ने सड़क के किनारे सो रहे कुत्ते के ऊपर ही खौलता हुआ तारकोल डाल दिया. कुत्ते ने मौके पर ही दम तोड़ दिया. इतना ही नहीं इसके बाद भी सड़क बनाने वालों को इसका पता नहीं चला. सुबह होने पर लोगों ने देखा कि कुत्ते के आधे शरीर पर तारकोल डला हुआ था. उसके आधे शरीर पर सड़क बनी हुई थी, जबकि आधा शरीर बाहर था. घटना के बाद सोशल मीडिया पर इसका वीडियो वायरल हो गया. एक संगठन ने इसके खिलाफ प्रदर्शन किया. मामले की जानकारी मेनका गांधी को दी गई है.

रात को बनाई जा रही थी सड़क, वीडियो हुआ वायरल
सड़क का निर्माण रात में किया जा रहा था. वायरल हुए वीडियो में एक निजी कंपनी के मजदूरों की संवेदनहीनता दिखती है, जिसमें वे ताजमहल को जाने वाली सड़क पर तारकोल बिछाने के दौरान एक सो रहे कुत्ते पर तारकोल गिराते दिख रहे हैं, जिसमें वह दफन हो गया. इस वीडियो को लेकर पशु अधिकार कार्यकर्ताओं में नाराजगी पैदा हो गई है. पुलिस ने कहा कि एक हिंदुत्व नेता की शिकायत पर एक प्राथमिकी दर्ज की गई है.

थाने में किया गया प्रदर्शन, मेनका गांधी को दी मामले की जानकारी
सामाजिक कार्यकर्ता नरेश पारस ने कहा कि कुत्ता सो रहा था या वह बीमार था. उसे हटाने के बजाय मजदूरों ने हॉट मिक्स संयंत्र से गर्म कोलतार सड़क पर नई परत बिछाने के लिए डाल दिया. उन्होंने कहा कि जब कुछ लोगों ने पुलिस के नोटिस में यह मामला लाया तो इस पर जल्द प्रतिक्रिया नहीं हुई. इस मुद्दे को लेकर कुछ हिंदुत्व कार्यकर्ताओं ने पुलिस थाने पर प्रदर्शन किया. इस मामले से मंत्री मेनका गांधी को सूचित किया गया है. इसने पुलिस को कार्रवाई करने पर मजबूर किया. निजी ठेकेदार ने कहा कि जांच की जा रही है. एक पशु अधिकार कार्यकर्ता ने कहा कि कुत्ते को मृत मानने व उसके ऊपर सड़क बनाने के लिए तारकोल गिराने के बजाय उन्हें उसे हटाना चाहिए था.

आरपी इंफ्रास्ट्रक्चर के पास था रोड बनाने का ठेका
जानकारी के मुताबिक फतेहपुर में इस रोड के निर्माण का ठेका पीडब्ल्यूडी विभाग ने आरपी इंफ्रास्ट्रक्चर प्राइवेट लिमिटेड नाम की कंपनी को दे रखा है. मामला संज्ञान में आने के बाद कंपनी जांच में जुट गई है. कंपनी का कहना है कि रात के समय अंधेरा होने के कारण उन्हें कुत्ता दिखा नहीं, जिसके कारण यह हादसा हुआ.