लखनऊ: अयोध्‍या में राम मंदिर निर्माण को लेकर सियासत तेज हो गई है. बीजेपी ने गुरुवार को कहा कि वह अयोध्या में संवैधानिक तरीके से राम मंदिर के निर्माण को संकल्पबद्ध है. इसके जवाब में समाजवादी पार्टी (सपा) अध्यक्ष और उत्तर प्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री अखिलेश यादव ने कहा कि संविधान और सुप्रीम कोर्ट में लोगों का दृढ़ विश्वास है. सुप्रीम कोर्ट के आदेश का सबको पालन करना चाहिए. Also Read - विकास दुबे के एनकाउंटर से चंद घंटे पहले सुप्रीम कोर्ट में दायर हुई थी याचिका, हत्या की जताई गई थी आशंका, जानें सच

Also Read - Vikas Dubey Encounter: अखिलेश यादव ने उठाया सवाल, कहा- राज खुलता को पलट जाती सरकार, इसलिए...

  Also Read - तमिलनाडु सरकार ने कहा- मेडिकल, डेंटल सीटों पर अखिल भारतीय कोटा में ओबीसी आरक्षण लागू करने के लिए उठा रहे हैं कदम

गुरुवार को प्रदेश की कानून व्यवस्था को लेकर भी अखिलेश ने सरकार पर निशाना साधा. उन्होंने आरोप लगाया कि राज्य के थानों में भाजपा नेताओं और राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ के कार्यकर्ताओं का राज है. अखिलेश ने सूबे की कानून-व्यवस्था की खराबी को लेकर राज्यपाल की ‘चुप्पी’ पर भी सवाल उठाये हैं. अखिलेश ने यहां प्रदेश की कानून-व्यवस्था को लेकर योगी आदित्यनाथ सरकार के दावों पर तंज करते हुए कहा कि ऐसा लगता है कि भाजपा के मुख्यमंत्री के कार्यकाल में असली रामराज स्थापित हो गया है. थानों में भाजपा नेता और संघ स्वयं सेवकों का राज है. अपराधी बेखौफ है. पुलिस शाम से ही सो जाती है, रात में वसूली के काम में लगी रहती है और सुबह टाइम से सलामी देने आ जाती है.’’

बीजेपी ने कहा, संवैधानिक तरीके से राम मंदिर का निर्माण, कांग्रेस बोली- अध्‍यादेश लाना असंवैधानिक

जनता दहशत में

उन्होंने कहा कि जनता दहशत में जी रही है. पुलिस फर्जी एनकाउण्टर करके वाहवाही लूट रही है. दुख की बात यह है कि प्रदेश की दिन-ब-दिन बिगड़ती हालत को देखते हुए भी राज्यपाल राम नाईक ने मौन धारण कर रखा है. अपने संवैधानिक दायित्व का निर्वाह करते हुए उन्हें तत्काल भाजपा के शासन में बिगड़ती कानून-व्यवस्था पर राष्ट्रपति को अपनी रिपोर्ट भेजनी चाहिए. पूर्व मुख्यमंत्री ने कहा कि हमारी सरकार ने अपराध नियंत्रण के लिए यूपी डायल 100 सेवा शुरू की थी. विश्वस्तरीय इस सेवा की प्रशंसा विदेशों तक में हुई थी. महिलाओं के सम्मान और सुरक्षा के लिए 1090 सेवा शुरू हुई थी. भाजपा ने इन सेवाओं को बर्बाद कर दिया. नतीजा सामने है अपराध बढ़ गए हैं. लूट, हत्या, अपहरण और बलात्कार में उत्तर प्रदेश का नाम दूसरे देशों तक में बदनाम हो रहा है. जनता इसे कब तक बर्दाश्त करेगी?

योगी के मंत्री का बड़ा हमला, ‘कांग्रेस भ्रष्‍टाचार की नदी तो SP, BSP, RLD भ्रष्टाचार के नाले’

यूपी में जिंदगी का कोई ठिकाना नहीं

प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी के संसदीय क्षेत्र वाराणसी के एक मॉल में दो लोगों की गोली मार कर हत्या किये जाने का जिक्र करते हुए उन्होंने कहा कि उत्तर प्रदेश देश में अकेला राज्य है जहां लोगों की जिंदगी का कोई ठिकाना नहीं है. सुबह घर से निकला कब वापस घर लौटेगा या नहीं भी कहना मुश्किल है. महिलाएं बच्चियां तक सुरक्षित नहीं. मगर भाजपा अपनी साम्प्रदायिक और नफरत की राजनीति कर रही है.”