लखनऊ: सुप्रीम कोर्ट के आदेश पर लखनऊ के पॉश इलाके में स्थित अपने सरकारी बंगले खाली करने के बाद सपा अध्यक्ष अखिलेश यादव और उनके पिता मुलायम सिंह यादव ने उसी इलाके में अपनी जमीन पर क्रमशः एक गेस्ट हाउस और लाइब्रेरी खोलने के लिए लखनऊ विकास प्राधिकरण (एलडीए) में नक्शा दाखिल किया है. Also Read - यूपी के डिप्टी सीएम की बिगड़ी तबियत, बैठक के दौरान नाक से निकलने लगा खून

एलडीए के अधिकारियों ने गुरुवार को बताया कि विक्रमादित्य मार्ग स्थित पूर्व मुख्यमंत्री अखिलेश के भूखण्ड संख्या 1 ए पर गेस्ट हाउस ‘हिबिस्कस हेरिटेज‘ बनाने के लिए 28 जून को नक्शा दाखिल किया गया था. इसी तरह उनके पूर्व मुख्यमंत्री पिता मुलायम सिंह यादव ने एक अन्य प्लॉट पर लाइब्रेरी बनाने के लिए नक्शा प्रस्तुत किया है. ऐसी खबरें आयी थीं कि अखिलेश अपनी जमीन पर एक होटल का निर्माण कराने जा रहे हैं लेकिन उनके करीबी विधान परिषद सदस्य आनंद भदौरिया ने इससे इनकार किया है. Also Read - समाजवादी पार्टी संरक्षक मुलायम सिंह यादव की तबीयत बिगड़ी, मेदांता अस्पताल में भर्ती

अखिलेश व उनकी पत्‍नी ने 2005 में खरीदी थी जमीन
भदौरिया ने कहा कि वह संस्थागत जमीन है और वहां पर गेस्ट हाउस बनेगा, ना कि होटल. चूंकि अखिलेश और मुलायम दोनों की ही जमीन हाई सिक्योरिटी जोन में आती है लिहाजा नक्शा पास करने से पहले विभिन्न विभागों से अनापत्ति प्रमाणपत्र लेना होगा. एलडीए के अधिशासी अभियंताओं ने इस मामले को लखनऊ नगर निगम के चीफ आर्किटेक्ट के पास भेजा है. साथ ही महानिदेशक (सुरक्षा), राज्य सम्पत्ति अधिकारी और लखनऊ जल संस्थान के महाप्रबंधक और एलडीए के नुजूल भू अधिकारी से अनापत्ति प्रमाणपत्र मांगे गये हैं. अखिलेश और उनकी पत्नी ने वर्ष 2005 में विक्रमादित्य मार्ग पर करीब 23 हजार वर्गफुट की जमीन 39 लाख रुपये में खरीदी थी. अब इसकी कीमत करोड़ों में पहुंच चुकी है. Also Read - सीएम योगी कल नोएडा में, 420 बिस्तरों वाले कोविड-19 अस्पताल का करेंगे उद्घाटन