लखनऊ, 14 जून। उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री अखिलेश यादव ने मंगलवार को भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) पर हमला बोलते हुए कहा कि भाजपा ने यूपी की जनता के साथ धोखा किया है। लखनऊ के इंदिरा प्रतिष्ठान में आयोजित एक कार्यक्रम में अखिलेश ने कहा, “राजनीति तो लास्ट ऑप्शन होता है। मैंने किसी स्टूडेंट से आज तक नहीं सुना कि वह नेता बनना चाहता है।” Also Read - सात महीने बाद सिर्फ एक दिन के लिए खुला 'बांके बिहारी मंदिर', फिर से बंद किए गए कपाट, ये है बड़ी वजह

Also Read - UP: पुलिस का खुलासा, गोंडा का पुजारी खुद पर हमले की साजिश में सरपंच और महंत के साथ शामिल था

मुख्यमंत्री ने कहा, “यूपी की जनता ने भाजपा को सबसे ज्यादा सांसद दिए हैं, लेकिन नीति आयोग ने यूपी का 9000 करोड़ रुपये काटा है। संगम में पहुंचकर लोग बहुत कुछ भूल जाते हैं। यूपी का पैसा छीना गया है, भाजपा उसका हिसाब दे।” Also Read - 'मिशन शक्ति' शुरू, CM योगी बोले- बेटियों पर बुरी नजर डालने वालों के लिए UP में कोई जगह नहीं

अखिलेश ने कहा, “सूरज बनना है तो जलना सीखो, छात्र नेता नहीं आईएएस बनना चाहते हैं।” उन्होंने कहा, “यूपी के बाद अब बिहार, राजस्थान में लैपटॉप बंट रहा है। प्रदेश में हर तरफ विकास हो रहा है। बहराइच से श्रावस्ती की सड़क हमने बनाई है। आगरा और लखनऊ एक्सप्रेस-वे बना रहे हैं।” यह भी पढ़े-मथुरा हिंसा: हेमा मालिनी घायल पुलिस कर्मियों से मिलने अस्पताल पहुंची

मुख्यमंत्री ने कहा कि देश में सबसे ज्यादा युवाओं की संख्या यूपी में है, आने वाली पीढ़ियों के लिए फंड बनाना जरूरी है, सब संपन्नता के रास्ते पर जाना चाहते हैं। नौजवान रोजगार और नौकरी चाहते हैं, समाजवादियों का रास्ता खुशहाली की ओर जाता है।

अखिलेश ने कहा कि मेहनत करने वालों को कोई ताकत नहीं रोक सकती, अब्दुल कलाम जैसे साधारण लोग बड़ी ऊंचाई पर पहुंचे और राष्ट्रपति बने।

उन्होंने कहा, “केवल पढ़ाई हो और अनुभव के साथ दूसरे हुनर न हों तो भी बेकार है। यूपी बोर्ड दुनिया का सबसे बड़ा बोर्ड है। करीब सवा करोड़ बच्चों ने यूपी बोर्ड पास किया है। सरकार के सामने बहुत बड़ी चुनौती है। हमें गर्व है कि सबसे युवा देश भारत है।”

मुख्यमंत्री ने कहा कि कलाम साहब के साथ और भी लोग हैं जिन्होंने गांव में रहकर नाम कमाया। अगर किसी ने लिंकन के बारे में पढ़ा होगा तो जानता होगा कि हर मोड़ पर असफलता देखने के बाद वह ताकतवर देश के राष्ट्रपति बन गए।