लखनऊ: लोकसभा चुनाव के परिणाम से बेफिक्र समाजवादी पार्टी (सपा) के अध्यक्ष अखिलेश यादव ने शनिवार को पार्टी कार्यकर्ताओं को प्रदेश में 2022 में होने वाले विधानसभा चुनाव की तैयारी शुरू करने के लिए कहा है. पूर्व मुख्यमंत्री ने पार्टी कार्यकर्ताओं से बिना समय बर्बाद किए घर-घर अभियान शुरू कर केंद्र और राज्य में सत्तारूढ़ भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) की जन-विरोधी नीतियों के बारे में जागरूकता फैलाने के लिए कहा है.

मोदी-आंधी ने काट दी वंशवाद की बेल, परिवारवाद का सूपड़ा हुआ साफ

उन्होंने कहा कि हम महापरिवर्तन लाने के अपने प्रयास जारी रखेंगे. सपा अध्यक्ष ने हालांकि बहुजन समाज पार्टी (बसपा) के साथ अपने असफल गठबंधन पर कुछ नहीं कहा. उन्होंने यद्यपि सभी पार्टी कार्यकर्ताओं को समाज के सभी वर्गो, विशेषकर कमजोर वर्ग तक पहुंचने का निर्देश दिया. उन्होंने कहा कि भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) झूठ और गलत तथ्य बताती है, वहीं समाजवादियों के पास ऐसी विचारधारा है, जो उनका मार्गदर्शन करती है. युवा गंभीर संकट में हैं, इसलिए हमें कॉलेजों, यूनिवर्सिटीज तक अपनी पहुंच बनानी होगी. उनके लिए कोई रोजगार नहीं है और उन्हें अपना भविष्य धुंधला दिख रहा है.

पीएम मोदी ने बनाया रिकॉर्ड, प्रचंड बहुमत के साथ सत्ता में लौटने वाले देश के तीसरे प्रधानमंत्री बने

पार्टी 2022 में सत्ता में लौटेगी: अखिलेश
उन्होंने अपनी पार्टी के युवाओं को भाजपा के दावों का जवाब देते समय रक्षात्मक की जगह आक्रामक रवैया अपनाने के लिए कहा. उन्होंने सलाह दी है कि आपको सभी तथ्य और आंकड़े जानने होंगे, और तब भाजपा का पर्दाफाश करने के लिए उन्हें बहस के लिए चुनौती देनी है. सपा प्रमुख ने यह भी कहा कि उनकी पार्टी 2022 में सत्ता में लौटेगी, क्योंकि उनकी सरकार ने राज्य में सबसे ज्यादा विकास किया था. उन्होंने कहा कि भाजपा को 2017 में वोट देने वाले अब पछता रहे हैं. हमें कठिन मेहनत करनी है और विधानसभा चुनाव में वापसी करनी है.

पीएम मोदी की प्रचंड जीत पर अमेरिका ने दी बधाई, कहा- दुनिया के लिए प्रेरणा है भारत का चुनाव