UP Assembly Election 2022: समाजवादी पार्टी के अध्यक्ष अखिलेश यादव (Akhilesh Yadav) ने कोविड-19 महामारी (Corona Virus) के दौरान मची अफरा-तफरी को लेकर बीजेपी (BJP) पर जमकर निशाना साधा. अखिलेश यादव ने बुंदेलखंड (Bundelkhand) के महोबा के बाद ललितपुर (Lalitpur News) में जनसभा को संबोधित किया. इस दौरान अखिलेश यादव ने महामारी के दौरान की तुलना देश के विभाजन के हालात से करते हुए कहा कि भाजपा सरकार की नाकामी के कारण कोरोना काल में ऐसी तस्वीरें सामने आई जो बंटवारे के समय भी देखने को नहीं मिली होंगी. सपा अध्यक्ष ने कहा, “योगी वही होता है जो दूसरों के दर्द को अपना समझे. आप बताएं क्या वह (Yogi Adityanath) दूसरे के दर्द को अपना समझते हैं. ये चिलमजीवी लोग उत्तर प्रदेश (UP) को आगे नहीं ले सकते.”Also Read - UP Assembly Election 2022: गाजियाबाद का सियासी तापमान बढ़ा, आमने-सामने हुए अखिलेश यादव और CM योगी

अखिलेश यादव ने ललितपुर के गिन्नौट बाग में आयोजित ‘समाजवादी विजय यात्रा’ (Samajwadi Vijay Yatra) को संबोधित करते हुए कहा कि कोविड-19 महामारी के दौरान भाजपा सरकार ने जनता को अनाथ छोड़ दिया तथा उस दौरान विडंबना को दर्शाती ऐसी तस्वीरें बंटवारे के वक्त भी नहीं देखी गई होंगी. अखिलेश यादव ने कहा कि “वह तस्वीरें कौन भूल जाएगा… जिस समय लॉकडाउन लगा था और दूसरे प्रदेशों में काम कर रहे हमारे मजदूर भाइयों को अपने घर आना पड़ रहा था. ऐसी तस्वीरें कभी नहीं देखी होगी किसी ने. जब हमारे देश का बंटवारा हुआ तब भी ऐसा नहीं हुआ.” Also Read - आजम खान के बेटे का दावा- पुलिसकर्मियों को सुरक्षा में नहीं बल्कि रेकी में लगाया गया, कहा- कभी भी मार सकते हैं गोली

अखिलेश यादव ने आरोप लगाया, “भाजपा की सरकार ने बैरिकेडिंग लगा दी और किसी भी मजदूर भाई को उत्तर प्रदेश में घुसने नहीं दिया. न जाने कितने दिन वे सीमा पर खड़े रहे. जहां पर गाय बांधी जाती थी, गौशाला थी, खाली मैदान था वहां हमारे मजदूर भाइयों को रख दिया. भूखे प्यासे बिना नहाए बिना पानी के हफ्ते हफ्ते हमारे मजदूर भाइयों को रहना पड़ा. अगर सरकार चाहती तो हमारे मजदूर भाइयों को पैदल नहीं चलना पड़ता.” पूर्व मुख्यमंत्री ने कहा कि अगर उस वक्त उत्तर प्रदेश में समाजवादी पार्टी की सरकार होती तो किसी भी मजदूर को पैदल नहीं जाने दिया जाता, सरकारी गाड़ियां लगवा कर मजदूरों को उनके घर पहुंचा दिया जाता. Also Read - UP में BJP अध्‍यक्ष जेपी नड्डा ने किया डोर-टू-डोर प्रचार, अखिलेश यादव पर आतंकियों के केस हटाने के आरोप लगाए

उन्होंने कहा ,‘‘प्रदेश की जनता पिछले साढ़े चार साल का कार्यकाल देखकर भाजपा को पूरी तरह समझ चुकी है. इतना दुख कभी जनता को नहीं दिया गया. अब भाजपा की कोई चाल नहीं चलने वाली. अब उत्तर प्रदेश में बदलाव होकर रहेगा.’’ यादव ने मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ पर एक बार फिर निशाना साधते हुए कहा कि सत्ता में बैठे लोग परिवारवाद का आरोप लगाते हैं लेकिन जिनका परिवार ही नहीं है वह परिवार के बारे में क्या जानें.

सपा अध्यक्ष ने कहा- ‘‘किसानों के सामने इस वक्त सबसे ज्यादा संकट है. उन्हें खाद के लिए लंबी-लंबी लाइन लगानी पड़ रही है. इस बार ललितपुर के लोग लाइन में लगकर भाजपा के खिलाफ इतने वोट डालें कि वह सत्ता से बेदखल हो जाए.” पूर्व मुख्यमंत्री ने कहा कि आगामी विधानसभा चुनाव के बाद राज्य में सपा की सरकार बनने पर बुंदेलखंड के किसानों को दो फसलें लेने की व्यवस्था की जाएगी तथा यह सुनिश्चित किया जाएगा कि किसानों को खाद लेने के लिए कतार में नहीं खड़ा होना पड़ेगा.

सपा के सहयोगी दल सुहेलदेव भारतीय समाज पार्टी के अध्यक्ष पूर्व मंत्री ओम प्रकाश राजभर ने इस मौके पर जनता से कहा कि आगामी विधानसभा चुनाव के बाद अखिलेश यादव को हर हाल में मुख्यमंत्री बनाना होगा, तभी प्रदेश का भला हो सकेगा. उन्होंने कहा ,‘‘हाल में हुए उपचुनाव हारने के बाद घबराई भाजपा ने पेट्रोल और डीजल के दाम घटाए. यदि जनता उत्तर प्रदेश से भाजपा को बेदखल कर दे तो महंगाई भी अपने आप कम हो जाएगी. ’’ राजभर ने कहा कि भाजपा ने बुंदेलखंड की जनता से धोखा किया है और अब चुनाव के वक्त में इस पार्टी के लोग मतदाताओं के बीच आकर तरह-तरह के झूठ बोलेंगे लेकिन 2022 के चुनाव में इस पार्टी को खदेड़ना होगा. उन्होंने कहा “भाजपा ने पिछड़ों का आरक्षण छीन लिया है. अब चुनाव में जब तक भाजपा की विदाई नहीं, तब तक कोई ढिलाई नहीं.”