लखनऊ: समाजवादी पार्टी के राष्‍ट्रीय अध्‍यक्ष अखिलेश यादव ने बीजेपी और कांग्रेस पर जोरदार हमला बोला है. उन्‍होंने कहा कि भाजपा और कांग्रेस दोनों एक-दूसरे से मिले हुए हैं. इनका गरीबों, किसानों, नौजवानों से कोई लेनादेना नहीं है. अखिलेश यादव ने यह बात छत्‍तीसगढ़ में गोंडवाना गणतंत्र पार्टी के अध्‍यक्ष हीरा सिंह के समर्थन में चुनावी सभा को संबोधित करने के दौरान कही.

 

अखिलेश यादव ने नोटबंदी के दौरान लोगों को हुई परेशानियों का जिक्र करते हुए कहा कि लोगों ने कड़ी मशक्‍कत के बाद बैंकों में पैसा जमा किया था, जिसको बाद में देश के उदयोगपति लूटकर देश से बाहर चले गए. इनको पहले भाजपा ने पैसा दिया,‍ फिर भाजपा सरकार ने देश से भागने का मौका दे दिया. इस पूरे घटनाक्रम में बीजेपी और कांग्रेस दोनों शामिल रहे. दोनों पार्टियों में कोई अंतर नहीं है. क्‍योंकि जो आज बीजेपी में है वह कल कांग्रेस में जा रहा है, जो कांग्रेस में है वह भाजपा में शामिल हो रहा है.

पीएम मोदी का राहुल और सोनिया पर हमला, मां-बेटा जमानत पर हैं और नोटबंदी पर सवाल उठा रहे हैं

शहरी नक्‍सलियों से देश को ज्‍यादा खतरा
अखिलेश यादव ने कहा कि नक्‍सलियों से उतरा खतरा नहीं है, जितना शहरी नक्‍सलियों से है. शहरी नक्‍सली देश में जातीय व धार्मिक भेदभाव की बातें करते हैं. इनका विकास से कोई लेनादेना नहीं है. भाजपा के सबसे बड़े नेता का कहना है कि एमपी में हर व्‍यक्ति की आय 12-13 हजार थी, जो 15 सालों के भाजपा राज में 90 हजार से ज्‍यादा हो गई है. सवाल करते हुए उन्‍होंने कहा कि हम पूछते हैं कि किसकी आय 90 हजार हुई है. उन्‍होंने कहा कि भाजपाई नारा देते हैं सबका साथ सबका विकास. मैं पूछता हूं कि जब सबने साथ दिया तो सबका विकास क्‍यों नहीं हुआ है.

पढ़ें: मध्‍यप्रदेश, छत्‍तीसगढ़, राजस्‍थान, मिजोरम और तेलंगाना चुनाव से संबंधित खबरें