लखनऊ: उत्तर प्रदेश विधानसभा चुनाव होने में अभी एक साल बाकी है. लेकिन राज्य में राजनीतिक हलचल अब शुरू हो चुकी है. सभी राजनीतिक पार्टियां इस बार यूपी में अपने पैर जमाने की फिराक में हैं और राजनीतिक समीकरण बनाने और गठजोड़ करने में जुट चुकी हैं. ऐसे में दलित युवा नेता के रूप में उभरे भीम आर्मी के प्रमुख चंद्रशेखर से समाजवादी पार्टी के अध्यक्ष अखिलेश यादव ने मुलाकात की है. अखिलेश यादव पश्चिमी यूपी की विधासनभा सीटों पर नजर बनाए हुए हैं, इस कारण यह नए गठबंधन की शुरुआत हो सकती है.Also Read - UP विधानसभा चुनाव पर Zee Opinion Poll की बड़ी बातें, 10 प्वाइंट में जानें सबकुछ...

बता दें कि अखिलेश यादव की चंद्रशेखर से 3 बार मुलाकात हो चुकी है. इससे पश्चिमी यूपी को लेकर नए समीकरण बनाए जाने का अंदेशा लगाया जा रहा है. आजतक से बातचीत में चंद्रशेखर ने कहा है कि भाजपा के खिलाफ एक बड़ा गठबंधन होना चाहिए. ताकि बिहार की तरह दोबारा यूपी न दोहराया जा सके. सभी दलों को एक साथा आना चाहिए. Also Read - Zee News Opinion Poll: जानें अखिलेश यादव को यूपी की कितने प्रतिशत जनता देखना चाहती हैं मुख्यमंत्री

चंद्रशेखर का कहना है कि वह अपनी पार्टी के बैनर तले पंचायत चुनाव लड़ेंगे. उन्होंने आजतक को बताया कि अगले 3 महीने में हमारा बूथ स्तर तक के गठबंधन को तैयार कर लेंगे. बहुजन समाज किसके साथ है यह हम दिखाएंगे. फिलहाल मैं इसी काम में लगा हुआ हूं. बता दें कि चंद्रशेखर को हाल ही में विश्व प्रसिद्ध मैगजीन में पावर नेताओं की लिस्ट में स्थान दिया गया था. Also Read - Zee News Opinion Poll: योगी आदित्यनाथ, अखिलेश यादव या मायावती? यूपी में कौन है लोगों का सबसे पसंदीदा सीएम