लखनऊ: समाजवादी पार्टी (सपा) के राष्ट्रीय अध्यक्ष अखिलेश यादव ने कानपुर की घटना में शहीद हुए पुलिसकर्मियों को अपनी श्रद्घाजंलि दी है. उन्होंने कहा है कि अपराधियों को जिंदा पकड़कर वर्तमान सत्ता का भंडाफोड़ होना चाहिए. Also Read - विकास दुबे के गांव में दबिश देने से पहले का पुलिस का ऑडियो अब हुआ वायरल, पूर्व SSP की बढ़ेगी मुसीबत

सपा मुखिया अखिलेश यादव ने ट्वीटर पर लिखा, “कानपुर की दुखद घटना में पुलिस के 8 वीरों की शहादत को श्रद्घांजलि. उप्र के आपराधिक जगत की इस सबसे शर्मनाक घटना में ‘सत्ताधारियों और अपराधियों’ की मिलीभगत का खामियाजा कर्तव्यनिष्ठ पुलिसकर्मियों को भुगतना पड़ा है. अपराधियों को जिंदा पकड़कर वर्तमान सत्ता का भंडाफोड़ होना चाहिए.” Also Read - मध्य प्रदेश में अब कांग्रेस कर रही 'शुद्धिकरण', इन इलाकों में घर-घर बांटेगी गंगाजल

ज्ञात हो कि कानपुर में देर रात शातिर बदमाशों को पकड़ने गई पुलिस टीम पर हुई ताबड़तोड़ फोयरिंग में सीओ समेत आठ पुलिसकर्मी शहीद हो गए. कई सिपाहियों को बेहद गंभीर हालत में अस्पताल में भर्ती कराया गया है और कई पुलिसकर्मी लापता हैं. पुलिस के आला अधिकारी और कई थानों की फोर्स मौके पर पहुंच गई है. घटना कानपुर में चौबेपुर थाना क्षेत्र के बिकरू गांव की है. Also Read - जम्मू-कश्मीर के LG बनाए जाने पर BJP नेताओं ने की मनोज सिन्हा की तारीफ, कही ये बात

मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने कानपुर की इस घटना में मारे गए पुलिसकर्मियों को श्रद्धांजलि दी है और उनके परिजनों के लिए संवेदना प्रकट की है. योगी ने घटना की रिपोर्ट तलब की है और साथ ही डीजीपी एचसी अवस्थी से अपराधियों पर कड़ी कार्रवाई का निर्देश दिया है.

घटना के बारे में यूपी के डीजीपी ने जानकारी दी. डीजीपी द्वारा बताई गई जानकारी के अनुसार हिस्ट्रीशीटर विकास दुबे के खिलाफ धारा 307 के तहत मामला दर्ज किया गया था, पुलिस उसे गिरफ्तार करने गई थी. जेसीबी को वहां लगा दिया गया, जिससे हमारे वाहन बाधित हो गए. जब फोर्स नीचे उतरी तो अपराधियों ने गोलियां चला दीं.

जवाबी गोलीबारी हुई, लेकिन अपराधी ऊंचाई पर थे, इसलिए हमारे 8 लोगों की मौत हो गई. इस दिल दहला देने वाली घटना में एक सीओ, एक एसओ, एक चौकी इंचार्ज और पांच सिपाही शहीद हुए हैं. इसके अलावा 4 सिपाही घायल हैं जिनका इलाज अस्पताल में चल रहा है जिनमें एक गंभीर है.