लखनऊ: समाजवादी पार्टी (सपा) प्रमुख अखिलेश यादव ने अपने चाचा शिवपाल यादव द्वारा समाजवादी सेक्युलर मोर्चा बनाये जाने पर प्रतिक्रिया व्यक्त करते हुए कहा कि ‘मैं भी नाराज हूं, मैं कहां चला जाऊं.’ आज ही अखिलेश ने मोर्चे को लेकर ये भी कहा था कि इसमें कुछ नया नहीं है. इससे कुछ फर्क नहीं पड़ेगा. हमें भटकना नहीं है. हर हाल में आगे बढ़ना है. Also Read - निजामुद्दीन मरकज में शामिल हुए 157 लोगों की यूपी में तलाश, 8 इंडोनेशियाई बिजनौर की मस्जिद में मिले

‘चाचा’ ने बनाई अलग पार्टी, ‘भतीजे’ ने कहा- कोई फर्क नहीं पड़ता, हमें BJP को हराना है Also Read - Corona के खिलाफ जंग: PM मोदी को होती है हर केस की जानकारी, वार रूम की तरह काम कर रहा PMO

शिवपाल के मोर्चा गठित किये जाने के बारे में संवाददाताओं द्वारा पूछे जाने पर अखिलेश ने कहा कि ‘मैं भी नाराज हूं, मैं कहां चला जाऊं. जैसे-जैसे लोकसभा चुनाव नजदीक आएगा, आप और भी चीजें होती हुई देखेंगे.’ इस सवाल पर कि क्या शिवपाल के मोर्चा गठित करने के पीछे भाजपा की साजिश है, सपा अध्यक्ष ने कहा कि ‘इसके पीछे भाजपा है, ऐसा मैं नहीं कहता, पर आज और कल की बात को देख लें तो शक तो जाएगा ही. सपा आगे बढ़ेगी, चाहे जो भी हो.’ Also Read - COVID-19: कोरोना को लेकर पूर्वांचल में डर, प्रवासी बढ़ा सकते हैं यूपी सरकार की परेशानी

शिवपाल सिंह यादव ने बनाया ‘समाजवादी सेक्युलर मोर्चा’, कहा- सपा से उपेक्षित सभी लोग जुड़ें

मालूम हो कि सपा में हाशिए पर चल रहे शिवपाल ने आज समाजवादी सेक्युलर मोर्चा के गठन का औपचारिक एलान कर दिया. उन्होंने कहा कि वह इस मोर्चे से कई छोटी पार्टियों को जोड़ने की कोशिश करेंगे. इसके पूर्व, अखिलेश ने सपा के आनुषांगिक संगठन समाजवादी छात्र सभा के कार्यकर्ताओं को सम्बोधित करते हुए कहा कि वे अगले लोकसभा चुनाव के लिए तैयारी करें और भाजपा की साजिशों से होशियार रहें. उन्होंने कहा कि असल मुद्दों से ध्यान भटकाना भाजपा की असल ताकत है. वे जब भी चाहते हैं कोई फिजूल का मुद्दा उठाकर लोगों का ध्यान बुनियादी मुद्दों से हटा देते हैं.’