लखनऊ: समाजवादी पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष अखिलेश यादव ने कहा कि किसानों को कारपोरेट घरानों का गुलाम बनाने वाला कानून भाजपाई सत्ता के विरुद्ध जनआंदोलन का मुख्य कारण बन गया है. सपा अध्यक्ष अखिलेश यादव ने कहा कि भाजपा बहुमत के बल पर विपक्ष की अनदेखी कर रही है. किसानों के खिलाफ जो काला कानून पास किया है. उसे नजरअंदाज करना भारी पड़ेगा. यही कानून भाजपा के खिलाफ जनआंदोलन का मुख्य कारण बना है. Also Read - MP उपचुनाव: 18 प्रतिशत प्रत्याशियों पर हैं अपराधिक मामले, दागियों को टिकट देने में सपा-बीजेपी आगे

सपा अध्यक्ष अखिलेश यादव ने कहा कि भारतीय जनता पार्टी के झूठे प्रचार की अब हर दिन पोल खुल रही है. मंडियों में काम करने वाले लाखों मजदूर बेरोजगार हो गए हैं. किसान भी मारे-मारे घूम रहे हैं. उन्होंने कहा कि भाजपा की नीति और नीयत दोनों किसान हितों के विरोध की है. Also Read - रिलीज से पहले ही सुर्खियों में आई निरहुआ की नई फिल्म 'फसल', बिना अन्न के इस अन्नदाता की दर्दनाक कहानी

अखिलेश ने कहा कि बीजेपी ने वर्ष 2022 तक किसानों की आय दोगुनी करने, लागत से डेढ़ गुना ज्यादा फसल की कीमत देने तथा कर्जमाफी के वादे किए थे. इनमें से एक भी वादा पूरा नहीं हुआ. अखिलेश यादव ने आरोप लगाया कि किसानों से भाजपा राज में जबरन जमीनें छीनी जा रही हैं. उन्हें उचित मुआवजा भी नहीं दिया जा रहा है. Also Read - बीजेपी अध्यक्ष जेपी नड्डा बोले- पंजाब में किसानों का नहीं, बिचौलियों का आंदोलन है