लखनऊ: हनुमान को दलित बताने वाले उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ के बयान पर तंज कसते हुए समाजवादी पार्टी (सपा) प्रमुख अखिलेश यादव ने बुधवार को कहा कि योगी को दूसरे भगवानों की जाति भी बतानी चाहिए. अखिलेश ने कहा कि योगी ऐसा करते तो हम भी अपनी जाति वाले भगवान से कुछ मांगते.

यादव ने पत्रकारों से कहा,‘‘ अभी तो कुछ ही भगवानों की जाति बताई है और भगवानों की जाति बता दें तो अच्छा होगा. हम भी अपनी जाति वाले भगवान से कुछ मांगते.’’ गौरतलब है कि योगी ने हाल ही में राजस्थान के अलवर के मालाखेड़ा इलाके में एक चुनाव सभा को संबोधित करते हुये भगवान हनुमान को दलित बताया था. इस बयान के बाद विवाद छिड़ गया था और विपक्षी दलों ने आरोप लगाया था कि भाजपा जाति आधारित राजनीति कर रही है.

Madhya Pradesh Elections Results 2018: कांग्रेस के साथ जाएगी सपा, अखिलेश यादव ने ट्वीट कर बताया

अखिलेश से मध्य प्रदेश, छत्तीसगढ़ और राजस्थान के चुनाव परिणामों के बारे में पूछा गया तो उन्होंने कहा कि ये नतीजे उत्साहवर्धक हैं. भविष्य में गठबंधन के बारे में उन्होंने कहा, ‘इस समय मैं अपनी पार्टी को मजबूत करने में लगा हूं और यह तैयारी बूथ स्तर तक हो, इसके लिए तैयारियां कर रहा हूं. सपा हमेशा सांप्रदायिक शक्तियों के खिलाफ है और हमारा उद्देश्य खुशहाल और समृद्धशाली भारत बनाने का है.’ उन्होंने कहा,‘‘विधानसभा चुनाव के परिणाम आ चुके हैं. मैं छत्तीसगढ़, राजस्थान और मध्य प्रदेश के लोगों के जनादेश का स्वागत करता हूं और उन्हें धन्यवाद देता हूं. हालांकि सपा का प्रदर्शन अच्छा नहीं रहा, हम एक सीट मध्य प्रदेश में जीते हैं और कुछ जगह पर दूसरे नंबर पर आए हैं.’ उनसे जब इन चुनावों में नोटा वोटों के बारे में पूछा गया तो अखिलेश ने कहा ‘मैं इस बारे में विस्तार में जाना नहीं चाहता हूं.’ चुनाव में ईवीएम के बारे में पूछे जाने पर उन्होंने कहा, ‘‘चुनाव के लिए सबसे बेहतर तरीका मतपत्र से मतदान है. ईवीएम पर भारत के अलावा अमेरिका में भी उंगलियां उठ चुकी हैं.’’