अलीगढ़: अलीगढ़ में जागरण हिंदू मंच के कार्यकर्ताओं पर पुलिस ने जमकर लाठीचार्ज किया. पुलिस ने उन्हें दौड़ा-दौड़ा कर पीटा. जागरण हिंदू मंच के कार्यकर्ता अपने एक कार्यकर्ता पर हमला करने वाले के खिलाफ धारा 307 हटाए जाने का विरोध कर रहे थे. विरोध प्रदर्शन एसएसपी ऑफिस के अंदर किया जा रहा था. लाठीचार्ज से पहले पुलिसकर्मियों ने एसएसपी ऑफिस के गेट को बंद कर दिया, फिर प्रदर्शन कर रहे कार्यकर्ताओं की जमकर पिटाई कर दी. एसएसपी ऑफिस परिसर में जिन कार्यकर्ताओं की बाइक लगी थी सभी को सीज कर दिया गया. 7 कार्यकर्ताओं को हिरासत में भी लिया गया है.

ये है मामला
जागरण मंच के कार्यकर्ताओं का आरोप है कि उनते दलित कार्यकर्ता पर 3 महीने पहले मीनाक्षी सिनेमा के मैनेजर ने हमलाकर मारने का प्रयास किया था. पुलिस ने दलित उत्पीड़न का मामला बनता देख आरोपी से बड़ी रकम रिश्वत में लेकर धारा 307 हटा दी. पुलिस द्वारा न्याय नहीं मिलने पर जागरण मंच के कार्यकर्ता एसएसपी ऑफिस में शांतिपूर्ण धरना प्रदर्शन कर रहे थे. तभी अचानक से लाठीचार्ज का ऑर्डर दे दिया गया और प्रदर्शन कर रहे कार्यकर्ताओं की पिटाई कर दी गई.

समझाने पर नहीं माने इसलिए किया गया लाठीचार्ज- एसपी
एसपी (अपराध) आशुतोष द्विवेदी ने बताया कि कार्यकर्ताओं को समझाया गया कि उस मामले की जांच चल रही है. इसके बाद कोई फैसला किया जाएगा. लेकिन कार्यकर्ता उत्तेजित प्रदर्शन करने से नहीं माने. इसलिए उन पर लाठीचार्ज किया गया. पुलिस का ये भी कहना है कि हिंदू जागरण मंच के कार्यकर्ता प्रदर्शन के दौरान केसरिया कपड़े से गेट बंद कर दिया था. गेट बंद होने की वजह से यहां पहुंच रहे फरियादियों को भारी परेशानी हो रही थी. पहले उन्हें समझाने की कोशिश की गई. जब वे नहीं माने तो उनके खिलाफ लाठीचार्ज का ऑर्डर दिया गया. लाठीचार्ज का मकसद प्रदर्शनकारियों को वहां से खदेड़ना था.