लखनऊ: इलाहाबाद हाईकोर्ट ने पीसीएस प्री 2017 का रिजल्ट संशोधित करने का आदेश दिया है. अपने महत्वपूर्ण फैसले में कोर्ट ने पांच में से तीन सवालों को गलत माना है. पीसीएस प्री 2017 के पांच सवालों को हाईकोर्ट में चुनौती दी गई थी. कोर्ट ने इसी मामले में अभ्यर्थियों के पक्ष में आदेश दिया है. कोर्ट ने कहा है कि दो सवालों के उत्तर बदल कर फिर से रिज़ल्ट जारी किया जाए. कोर्ट ने तीन गलत सवालों में से एक सवाल को डिलीट करने का आदेश दिया है. ये आदेश जस्टिस पंकज मित्तल और जस्टिस सरल श्रीवास्तव की खंडपीठ ने दिया है. Also Read - लखनऊ में विधानसभा गेट के पास दरोगा ने खुद को गोली मारी, सुसाइड नोट में CM योगी से की अपील- मेरे बच्चों का ध्यान रखना

बता दें कि 24 सितम्बर 2017 को पीसीएस प्री 2017 की परीक्षा हुई थी. इसके लिए 455297 अभ्यर्थियों ने आवेदन किया था. इसमें 246654 अभ्यर्थी शामिल हुए थे. 19 जनवरी 2018 को इसका रिजल्ट घोषित हुआ था. लोक सेवा आयोग ने 14032 अभ्यर्थियों को मुख्य परीक्षा के लिये सफल घोषित किया था. 677 पदों पर अभ्यर्थियों का चयन होना है. Also Read - बेहद गुणकारी है गुड़, चरक संहिता में भी जिक्र, इस शहर में जल्द होगी चर्चा

अभ्यर्थियों ने दी थी सवालों को चुनौती
कई अभ्यर्थियों का कहना था कि पीसीएस प्री में कुछ सवाल गलत थे. धनन्जय सिंह व अन्य सैकड़ों अभ्यर्थियों ने हाईकोर्ट में पांच गलत सवालों को चुनौती दी थी. हाईकोर्ट ने इन पांच सवालों में से तीन को गलत माना है. एक प्रश्न को डिलीट करने का आदेश दिया है. साथ ही कोर्ट ने लोक सेवा आयोग को आदेश दिया है कि दो प्रश्नों के उत्तर बदल कर फिर से रिजल्ट घोषित किया जाए. Also Read - Sharjah से Lucknow आ रही IndiGo flight कराची में हुई लैंड, लेकिन यात्री की नहीं बच सकी जान