इलाहाबाद: राष्ट्रपति अवार्ड की तैयारी के लिए ममफोर्ड गंज स्थित प्रादेशिक प्रशिक्षण केंद्र में चल रहे स्काउट गाइड के शिविर में अव्यवस्थाओं की खबरों को शिविर संचालकों ने झूठ बताया है. शिविर संचालकों का कहना है कि कुछ असामाजिक तत्व संगठन की छवि खराब करने का प्रयास कर रहे हैं, इसलिए मीडिया में गलत खबरों को हवा दी जा रही है. Also Read - महादेव की भक्ति में तल्लीन हुए यूपी के सीएम योगी आदित्यनाथ, किया दुग्धाभिषेक, जानें क्या है वजह

प्रादेशिक संगठन कमिश्नर राजेंद्र सिंह हंसपाल ने बताया कि यहां भारत स्काउट गाइड इंटर कॉलेज के मैदान कुछ बाहर के बच्चे क्रिकेट खेलने भी आते हैं. इस वजह से यहां लगी खिड़कियों के कांच आदि टूट जाते हैं. उन्होंने बताया कि यहां स्काउट्स और गाइड्स के लिए अलग-अलग रहने के साथ ही और अलग शौचालयों की व्यवस्था भी है. गर्मी के दिनों में छात्रों को ठंडा पानी मिल सके, इसके लिए जगह-जगह घड़े भी रखवाए गए हैं और हॉल में पंखे भी लगे हैं. शिविर स्थल में एक छात्र के बैग चोरी हो जाने की बात पर अधिकारियों का कहना है कि शिविर के दौरान स्थल में हर समय गार्ड तैनात रहते हैं, ऐसे में कि किसी के बाहर से आकर चोरी करने करने का सवाल ही नहीं उठता. Also Read - योगी सरकार ने दी यूपी में बड़े आयोजनों की अनुमति, कोविड प्रोटोकॉल का करना होगा पालन

उन्होंने बताया कि शिविर में प्रतिभागियों को अपने बिस्तर लाने के साफ तौर पर निर्देश दिए जाते हैं, इसके बावजूद शिविर संचालकों की ओर से छात्रों के लिए दरी और बिस्तर दे दिए जाते हैं ताकि जो छात्र बिस्तर इत्यादि नहीं ला सके उन्हें जमीन पर न सोना पड़े. बता दें कि इलाहाबाद के कैंट एरिया में 6 से 10 जुलाई तक चलने वाले इस तैयारी शिविर में राज्य के कई जिले से लगभग 450 स्काउट्स एवं गाइड्स यहां पहुंचे हैं. शिविर में प्रतिभागियों को राष्ट्रपति अवार्ड परीक्षा के दौरान ध्यान देने वाली जरूरी चीजों की तैयारी करवाई जा रही है ताकि राज्य से ज्यादा से ज्यादा स्काउट्स एवं गाइड्स को यह सम्मान मिल सके. Also Read - Kanpur Encounter: परिवार के एक सदस्य को शासकीय नौकरी और 1 करोड़ रुपये की आर्थिक सहायता दी जाएगी: मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ