लखनऊ: राज्यसभा सदस्य अमर सिंह ने कहा कि उन्होंने समाजवादी पार्टी छोड़ी नहीं है बल्कि उन्हें निकाला गया है. उन्होंने कहा कि गुरुवार सुबह वे रामपुर जा रहे हैं, अपने आपको कुर्बानी के लिए आजम खान के समक्ष रखूंगा. आजम खान बहुत बड़े बाहुबली हैं. अगर वह हमारी कुर्बानी ले सकते है तो मैं तैयार हूं. बता दें कि बीते दिनों सपा नेता आजम खां ने अमर सिंह को अवसरवादी बताया था. Also Read - कोरोना महासंकट के बीच हुए इन हमलों ने बढ़ाई देश की चिंता, तैनात करना पड़ रहे पुलिस जवान

शिवपाल सिंह यादव ने बनाया ‘समाजवादी सेक्युलर मोर्चा’, कहा- सपा से उपेक्षित सभी लोग जुड़ें Also Read - Coronavirus को लेकर राम गोपाल वर्मा ने किया भद्दा मज़ाक, यूजर्स बोले- थोड़ी तो शरम करो, पुलिस लेगी एक्शन

अमर सिंह बुधवार शाम प्रदेश के राज्यपाल राम नाईक से मिलने राजभवन गये. वहां से निकल कर उन्होंने पत्रकारों से कहा कि राज्यपाल से सारगर्भित बात हुई और उन्होंने उन्हें एक ज्ञापन भी दिया और आग्रह किया है कि वह ज्ञापन को गंभीरता पूर्वक लें. उन्होंने कहा कि आजम खान सपा नेता ने उन्‍हें अवसरवादी कहा है, पता नहीं वे अवसरवादी कहां से हो गए. पहली बार मुलायम सिंह ने मुझे समाजवादी पार्टी से निकाला और मैं दल में गया भी नहीं और दल में गये बिना मुझे राज्यसभा का टिकट दिया. मुलायम ने कहा कि वह (अमर) दल में नहीं दिल में हैं. दूसरी बार उनके पुत्र (अखिलेश यादव) ने निकाला. मैंने समाजवादी पार्टी छोड़ी नहीं है, मैं निकला नहीं हूं, मुझे निकाला गया है. Also Read - CORONAVIRUS first death in up gorakhpur covid 19 total cases reached 118 coronavirus in up यूपी में कोरोना वायरस से पहली मौत दर्ज, गोरखपुर के अस्पताल में भर्ती था युवक, कुल मामले 118

विपक्ष पर बरसे यूपी के सीएम योगी, विधानसभा को बंधक बनाने का लगाया आरोप

मैंने पत्‍नी या भाई किसी को नहीं दिया पद: अमर
उन्होंने कहा कि मैंने अपनी पत्नी, अपने भाई या परिवार के किसी सदस्य को कोई पद नहीं दिया है, जैसे आजम खान ने. खुद वह मंत्री बने, उनकी पत्नी राज्यसभा सांसद बनी, उनका बेटा विधायक बना और वह (रामपुर के) मोहम्मद अली जौहर विश्वविदालय में आजन्म कुलपति बने. अमर सिंह ने कहा कि वह कल सुबह छह बजे रामपुर रवाना होंगे.