बदायूं (उप्र): भारतीय जनता पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष अमित शाह ने शनिवार को सपा-बसपा-कांग्रेस पर निशाना साधते हुए कहा कि ये तीनों ही दल घुसपैठियों को नहीं निकालना चाहते हैं क्योंकि वे उनका ‘वोट बैंक’ हैं. शाह ने यहां विजय संकल्प रैली में कहा कि भारतीय जनता पार्टी घुसपैठियों को निकालना चाहती है लेकिन सपा-बसपा और कांग्रेस उन्हें नहीं निकालना चाहते हैं क्योंकि ये उनका वोट बैंक हैं.

 

उन्होंने कहा कि आतंकवाद और नक्सलवाद को कोई मुंहतोड़ जवाब दे सकता है तो प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी की सरकार ही दे सकती है. ये सपा-बसपा और कांग्रेस के बस की बात नहीं है. शाह ने कहा कि सरकार बनने के बाद मुस्लिम महिलाओं के लिए ‘ट्रिपल तलाक’ को खत्म कर दिया जाएगा. उन्होंने सपा—बसपा और कांग्रेस पर एक बार फिर भ्रष्टाचार को लेकर निशाना साधते हुए कहा, ’12 लाख करोड़ रुपये का भ्रष्टाचार सपा-बसपा और कांग्रेस के राज में हुआ है लेकिन हमारी सरकार में एक भी भ्रष्टाचार नहीं हुआ.

थेनी में बोले PM मोदी, ‘भारत की विश्व पटल पर तेजी से तरक्की के कारण विपक्ष मुझसे नाराज’

आठ करोड़ घरों में मोदी सरकार ने शौचालय पहुंचाया
भाजपा अध्यक्ष ने कहा कि मायावती कहती हैं कि हम गरीबों के लिए काम करेंगे जबकि बसपा ने सभी धनवानों को टिकट दिया है और वो कभी गरीबों का भला नहीं करेंगे. उन्होंने कहा कि एक ओर भारतीय जनता पार्टी है जो मोदी के नेतृत्व में काम कर रही है और दूसरी तरफ एक गठबंधन बना है. ‘मैं गठबंधन वालों से पूछता हूं कि आप का नेता कौन है ? कोई नहीं बताता है कि नेता कौन है. भाजपा अध्यक्ष ने कहा कि आठ करोड़ घरों में मोदी सरकार ने शौचालय पहुंचाया और मां बेटियों की सुरक्षा के लिए बड़ा कदम उठाया.

PM नरेंद्र मोदी 26 अप्रैल को करेंगे नामांकन, काशी में इस दिन को ग्रैंड-शो बनाने की तैयारी में भाजपा

उत्तर प्रदेश में चलता था सपा-बसपा का गुंडाराज
उन्होंने कहा कि उत्तर प्रदेश में सपा-बसपा का गुंडाराज चलता था. पश्चिमी उत्तर प्रदेश में पलायन होता था, लेकिन अब पलायन करवाने वाले खुद पलायन कर रहे हैं. शाह ने कहा कि भारतीय जनता पार्टी की सरकार विकास के रास्ते पर चलती है. घोषणा पत्र में मोदी ने कहा है कि सरकार बनती है तो 60 साल से ऊपर के किसानों को पेंशन दी जाएगी. व्यापारियों को भी 60 साल के ऊपर पेंशन योजना से लाभ दिया जाएगा. 2022 तक हर गरीब को घर दे दिया जाएगा .

नमो टीवी पर एक्शन में चुनाव आयोग, पूरा कंटेंट हटाने के निर्देश