अलीगढ़ : मुस्लिम विश्वविद्यालय (एएमयू) में मोहम्मद अली जिन्ना की तस्वीर लेकर चल रहे विवाद पर केंद्रीय अल्पसंख्यक कार्य मंत्री मुख्तार अब्बास नकवी ने कहा कि एएमयू के प्रशासन और छात्रों को बेवजह का विवाद अब खत्म कर देना चाहिए क्योंकि पाकिस्तान के संस्थापक जिन्ना न तो भारत के आदर्श हैं और न ही भारतीय मुसलमानों के आदर्श हैं.एएमयू में जिन्ना की तस्वीर को लेकर बिना मतलब तूल दिया जा रहा विवि प्रशासन और छात्र विवाद को अब खत्म करें. Also Read - TMC सांसद नुसरत जहां ने भाजपा को बताया दंगा कराने वाला, मुसलमानों को कहा- उल्टी गिनती शुरू..

Also Read - Army Day 2021: BJP ने सेना दिवस के अवसर पर साझा किया बेहतरीन वीडियो, दिखा जवानों का पराक्रम

नहीं थम रहा विवाद, परीक्षाएं भी टलीं Also Read - West Bengal Assembly Election 2021: बंगाल में पाला बदलने की होड़, TMC के 41 विधायक तो BJP के 7 सांसद कर सकते हैं बगावत

अलीगढ़ मुस्लिम यूनिवर्सिटी के छात्र संघ भवन में लगी जिन्ना की तस्वीर को हटाए जाने को लेकर चल रहा विवाद थम नहीं रहा एक तरफ एएमयू प्रशासन और छात्र संघ जिन्ना की तस्वीर लगाने या हटाने को उनका अंदरूनी मामला बताते हुए बाहरी लोगों को इस मुद्दे से दूर रहने और दोषियों के खिलाफ कार्रवाई की मांग पर अड़े हुए हैं. छात्रों के उग्र विरोध प्रदर्शन पर पुलिस को बल प्रयोग भी करना पड़ा था. वही दूसरी तरफ विवाद के मद्देनजर तनावपूर्ण स्थितियों को देखते हुए विवि प्रशासन ने आगामी परीक्षाएं भी स्थगित कर दी हैं. इसके पहले पूर्व राष्ट्रपति डॉक्टर एपीजे अब्दुल कलाम के प्रेस सचिव रहे एसएम खान ने भी कहा था कि भारतीय मुसलमानों ने पहले ही जिन्ना को ख़ारिज कर दिया था अब इस विवाद का कोई अर्थ नहीं है उन्होंने कहा एएमयू एक राष्ट्रवादी संस्थान है जिस पर सवाल खड़े करना उचित नहीं है.

भारतीय मुसलमानों का जिन्ना से कोई रिश्ता नहीं : एसएम खान

विवि की गरिमा का सम्मान करें छात्र

केन्द्रीय मंत्री मुख्तार अब्बास नकवी ने मीडिया के माध्यम से एएमयू प्रशासन और छात्रों से विवाद खत्म करने की अपील की उन्होंने कहा एएमयू के प्रशासन और छात्रों से मैं यही आग्रह करूंगा कि वे बेवजह का विवाद खत्म करें, क्योंकि जिन्ना न तो देश के आदर्श हैं और न ही मुसलमानों के आदर्श हैं. उन्होंने कहा इस बात को यहीं खत्म करना चाहिए और विश्वविद्यालय की गरिमा का सम्मान करते हुए आगे बढ़ना चाहिए.

क्यों हुआ विवाद ?

गौरतलब है कि एएमयू के यूनियन हॉल में लगी जिन्ना की तस्वीर को लेकर पिछले दिनों अलीगढ़ के भाजपा सांसद सतीश गौतम ने कुलपति तारिक मंसूर को पत्र लिखा था इसके बाद ही इस विवाद की शुरुआत हुई. इसी मामले को लेकर हिन्दू युवा वाहिनी के कुछ कार्यकर्ताओं ने बुधवार एएमयू परिसर में घुसकर हंगामा और नारेबाजी की थी. इस हंगामे को लेकर पुलिस ने दो लोगों को गिरफ्तार किया है और मामले की जांच जारी है.

(इनपुट एजेंसी)