अलीगढ़: पुलवामा आतंकवादी हमले के बाद यहां जगह-जगह हो रहे विरोध प्रदर्शन के मद्देनजर अलीगढ़ मुस्लिम विश्वविद्यालय ने अपने कश्मीरी छात्रों को परिसर से बाहर नहीं जाने की सलाह दी है. एएमयू के प्रॉक्टर प्रोफेसर मोहसिन खान ने रविवार को बताया कि शहर में जगह-जगह हो रहे विरोध प्रदर्शनों के मद्देनजर विश्वविद्यालय के कश्मीरी विद्यार्थियों को सलाह दी गई है कि वे फिलहाल परिसर से बाहर नहीं जाएं . Also Read - Jammu Kashmir: श्रीनगर में टूटा पिछले 30 साल का रिकॉर्ड, जम गई डल झील

Also Read - कश्मीर में ताजा स्‍नोफॉल से आफत, श्रीनगर एयरपोर्ट में कई इंच मोटी बर्फ जमी, उड़ानें ठप

पुलवामा हमला: अलगाववादी नेताओं की सुरक्षा वापस लेने के बाद हुरियत का आया ये बयान Also Read - Jammu & Kashmir: आर्मी के जवानों ने बर्फीले रास्‍ते में फंसी प्रसूता और नवजात बच्‍चे की बचाई जान

एएमयू के प्रॉक्टर प्रोफेसर मोहसिन खान ने बताया विश्वविद्यालय प्रशासन परिसर में कानून व्यवस्था की स्थिति पर लगातार नजर रख रहा है. खासकर सोशल मीडिया पर बेहद भड़काऊ संदेश प्रसारित किए जाने पर विशेष एहतियात बरती जा रही है. उन्‍होंने ने बताया कि परिसर में किसी भी तरह की आपत्तिजनक गतिविधि को कतई बर्दाश्त नहीं किया जाएगा.

पुलवामा हमला: पीएम मोदी बोले-आपके दिलों के साथ-साथ मेरे दिल में भी आग दहक रही है

प्रॉक्टर प्रो. मोहसिन खान ने बताया पुलवामा आतंकवादी हमले को लेकर आपत्तिजनक ट्वीट करने वाले कश्मीरी छात्र स्नातक के छात्र बसीन हिलाल को निलंबित कर दिया गया है. इसके अलावा उसके खिलाफ शुक्रवार को मुकदमा भी दर्ज कराया गया है.

पुलवामा अटैक: इंडियन आर्मी पर आपत्तिजनक पोस्ट करने वाली गुवाहाटी की टीचर सस्पेंड

कश्मीर का छात्र एएमयू से निलंबित

बीते 15 फरवरी को विज्ञान स्नातक की पढाई कर रहे कश्मीर के छात्र वसीम हिलाल को शुक्रवार को अलीगढ मुस्लिम विश्वविद्यालय से निलंबित कर दिया गया था. उसके खिलाफ रिपोर्ट थी कि उसने सोशल मीडिया में एक पोस्ट किया था, जिसमें उसने जम्मू कश्मीर में गुरुवार की हड़ताल के लिए आतंकवादी संगठन की तारीफ की थी. एएमयू प्रवक्ता उमर पीरजादा ने बताया था कि मामले की जांच की जा रही है. जांच पूरी होने पर कड़ी कार्रवाई होगी. पीरजादा ने कहा कि इस तरह की गतिविधियों के लिए एएमयू में जीरो टालरेंस की नीति है. इस करह की गतिविधियों में लिप्त लोगों को बख्शा नहीं जाएगा.